Madhya Pradesh ready to deal with corona virus

Coronavirus भारत में सबसे बुरा दौर, डेली ग्रोथ रेट अन्य देशों के मुकाबले ज्यादा

नई दिल्ली. 40 दिनों का लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंशिग की तमाम कवायदों के बीच भारत में कोरोना वायरस (coronavirus covid-19) का प्रभाव कम होता नजर नहीं आ रहा है। हालांकि वायरस की रफ्तार धीमी जरूर हुई है लेकिन अभी भी यह बहुत ज्यादा है। भारत में डेली ग्रोथ रेट अब अमेरिका, इटली, ब्रिटेन जैसे कोरोना प्रभावित देशों से भी ज्यादा है। जानते हैं कि दुनिया के बाकी देशों में और भारत में कोरोना कहर के क्या हालात हैं।

वैज्ञानिकों का दावा… ऐसी एंटीबॉडी बनाई जिससे कोरोना बढऩे से रोका जा सकेगा

यदि कोरोना संक्रमण से सबसे बुरी तरह प्रभावित प्रभावित 20 देशों की रोजाना बढौत्तरी देखें तो भारत में वायरस काफी तेजी से फैल रहा है। 40 दिनों के लॉकडाउन (Lockdown) के बाद भी कोरोना वायरस (coronavirus covid-19) में आ रही तेजी देश के लिए चिंता बढ़ाने वाली है। 22 मार्च को भारत की एवरेज डेली ग्रोथ रेट 19.9 फीसदी था। उसी दरमियान इटली को छोड़कर अमेरिका, रूस, ब्राजील और ब्रिटेन जैसे सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की भारत से ज्यादा थी।

6 महीने के लिए मिल जाएगा ईएमआई से छुटकारा, रिजर्व बैंक करेगा घोषणा

यह लॉकडाउन (Lockdown) का ही नतीजा था कि तब भारत में कोरोना (coronavirus covid-19) के मामलों का रोजाना बढ़ौत्तरी लगातार गिर रहा था। Lockdown 2.0 के आखिरी दिन यानि 3 मई को यह बढौत्तरी रेट घटकर 6.1 फीसदी तक आ गई थी। इससे हालात पर काबू पा लेने की उम्मीद जरूर जागी थी लेकिन लेकिन जब दूसरे देशों से तुलना करते हैं तब यही आंकड़ा डराने वाले नजर आते हैं।

पैसे नहीं दिए तो मासूम की तकिया से मुंह दबाकर कर दी हत्या, आरोपी सगा ताऊ

3 मई की बात करें तो भारत में डेली ग्रोथ रेट इटली (1.0 फीसदी) के मुकाबले 6 गुना है। अमेरिका (2.7) और ब्रिटेन (3.0 फीसदी) के मुकाबले 2 गुना है। कोरोना (coronavirus covid-19) की रोजाना बढौत्तरी दर के मामले में सिर्फ रूस (7.5 फीसदी) और ब्राजील (7.4 फीसदी) ही भारत से ऊपर हैं। 4 मई को इटली में 1221 नए केस सामने आए जबकि भारत में 2900 नए मामले सामने आए।

इसी तरह 3 मई के आंकड़ों को देखें तो उस दिन भारत में कोरोना (coronavirus covid-19) के नए मामले इटली से भी ज्यादा रहे जहां कुल केस 2 लाख से ऊपर पहुंच चुके हैं। 3 मई को भारत नए केसों के मामले में दुनिया में 5वें नंबर पर था। उस दिन देश में 2,644 नए मामले सामने आए, जबकि इटली में यह आंकड़ा 1,900 का था।

वैज्ञानिकों का दावा… ऐसी एंटीबॉडी बनाई जिससे कोरोना बढऩे से रोका जा सकेगा

नए केसों के मामले में भारत से ऊपर अमेरिका, रूस, ब्राजील और ब्रिटेन ही थे। 22 मार्च को खत्म हुए सप्ताह से लेकर 3 मई को खत्म हुए सप्ताह तक अगर भारत के डेली एवरेज केस की अन्य देशों से तुलना करें तो हालात की गंभीरता का अंदाजा लग सकता है। 3 मई को खत्म हुए सप्ताह में भारत में हर दिन औसतन 1,926 केस (coronavirus covid-19) के बढ़े। इटली में यह आंकड़ा 1997, यूके में 4840, ब्राजील में 5436 और रूस में 7067 था।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*