Why don't you donate 90 per cent of the gold at the time of this crisis, Subhash Ghai is surrounded

इस संकट की घड़ी में मंदिर क्यों नहीं दान कर देते 90 फीसदी सोना, घिर गए सुभाष घई

रायपुर . फिल्ममेकर सुभाष घई (Subhas ghai) के ट्वीटर पोस्ट से राजनीति तेज हो गई है। दरअसल, सुभाष घई ने कहा है कि देश के सभी मंदिरों के पास भरपूर मात्रा में सोना भरा पड़ा है, जिसमें से 90 फीसदी सोना दान कर देना चाहिए। सुभाष घई ने ट्विटर पर एक ट्वीट के जरिए लिखा कि संकट की घड़ी में मंदिर अपना सोना दान क्यों नहीं कर देते।

ये भी पढ़ेगजब होशियारी : क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए लोगों को कोटवार ने पिलवाई शराब

आखिर जनता के काम नहीं आएगा तो फिर यह संपत्ति किए काम की। क्या भगवान के मंदिर जाने का ये ठीक समय नहीं है। जितने भी अमीर मंदिर हैं और जिनके पास काफी सोना है, (Subhas ghai) उन्हें खुद आगे आकर सरकार को अपना 90 प्रतिशत सोना सरेंडर कर देना चाहिए जिससे उन गरीबों की मदद हो सके जो मुश्किल में है।

https://twitter.com/SubhashGhai1/status/1261247252225421313

ये भी पढ़ेटॉम क्रूज की अगली फिल्म अंतरिक्ष में, अब Space में भी लाईट..एक्शन.. कैमरा

मंदिर को भी तो ये सब लोगों ने भगवान के नाम पर दिया है। सुभाष घईने पीएमओ को भी टैग कर दिया। इसके बाद से ही वे लगातार इसके लिए री-ट्वीट हो रहे हैं। उनको लगातार ट्रोल किया जा रहा है। अब सुभाष घई के इस ट्वीट पर लोगों की अलग-अलग प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। लोगों ने उनको नसीहत दी है कि पहले वे खुद तो देश के लिए कुछ डोनेट करें। उनको देश को बांटने वाला बता दिया।

इस तरह शुरू हुआ बवाल

सुभाष घई (Subhas ghai) के पोस्ट के बाद विवाद तब शुरू हुआ जब कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने एक ट्वीट किया। 13 मई को पृथ्वीराज चव्हाण ने एक ट्वीट कर सरकार से अपील की थी कि वो देश के सभी धार्मिक ट्रस्टों के पास पड़े सोने का तुरंत इस्तेमाल करे। इसके बाद से ही बीजेपी का पारा चढ़ गया और उनको सभी मिलकर कोसने भी लग गए।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें….

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*