What happened, Kamal Nath Sarkar,

क्या हुआ कमलनाथ सरकार का, पढ़े पूरी खबर..

भोपाल. मध्य प्रदेश की वर्तमान कांग्रेस सरकार को कोरोना वायरस ने संजीवनी देने का काम किया है। कोरोना वायरस का संक्रमण राजनेताओं का ना हो इसलिए स्पीकर ने मध्य प्रदेश विधानसभा 26 मार्च तक स्थगित कर दी है। विधानसभा स्थगित होने से कमलनाथ सरकार को फ्लोर टेस्ट से राहत मिल गई है।

राज्यपाल के भाषण पर बीजेपी की टिप्पणी

विधानसभा में राज्यपाल लालजी टंडन के भाषण शुरू करते ही बीजेपी नेताओं ने रोका टोकी शुरू कर दी। राज्यपाल के भाषण के दौरान बीजेपी नेता नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि जो सरकार अल्पमत में है, क्या राज्यपाल उसी सरकार की तारीफ की कसीदे पढ़ने आए हैं? बीजेपी नेता नरोत्तम मिश्रा द्वारा टिप्पणी करने के बावजूद राज्यपाल अपना भाषण पढ़ते रहे। अपना भाषण खत्म करने के बाद राज्यपाल ने कहा कि विधायक मध्य प्रदेश के गौरव की रक्षा करें और संविधान के नियमों का पालन करें।

बीजेपी विधायक पहुंचे शिवराज के साथ

बीजेपी के विधायको को 3 बसों में सवार करके विधानसभा लाया गया था। विधायको के साथ पूर्व सीएम शिवराज सिंह भी बस में बैठकर विधानसभा पहुंचे। कांग्रेस के बागी विधायक विधानसभा से नदारद रहे।

अब तक 6 विधायको का इस्तीफा ही स्वीकृत

कांग्रेस पार्टी से बागी होकर इस्तीफा देने वाले 20 विधायको में से स्पीकर ने मात्र 4 विधायको का इस्तीफा ही स्वीकार किया है। कुल 230 सदस्यीय विधानसभा में दो स्थान रिक्त हैं। अब कांग्रेस के 108, बीजेपी के 107, निर्दलीय 4, बीएसपी के 2 और एसपी का 1 विधायक बचे हैं। विधानसभा में सदस्यों की कुल संख्या 222 रह गई है। बहुमत के लिए 112 विधायको की जरूरत है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*