What happened is that the players of Hockey India had to stop their eyes

ऐसा क्या हुआ कि हॉकी इंडिया के खिलाडिय़ों को करना पड़ा नजर बंद

खेल डेस्क . ओलंपिक के लिए क्वालिफाई कर चुके (Hocky india) हॉकी इंडिया के खिलाडिय़ों के लिए एसओपी जारी की गई है। यह भी कहा गया है कि भारतीय खेल प्राधिकरण के खिलाडिय़ों को घर जाने की अनुमति दी जा सकती है, लेकिन घर जाकर उन्हें 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में रहना होगा। कोविड-19 वायरस को देखते हुए मानक संचालक जारी हुआ है।

ये भी पढ़ें – तीन महीने एक स्टेडियम में कैद किए जाएंगे पाकिस्तान टीम के क्रिकेटर्स

खेल प्राधिकरण ने कहा है कि कोविड-19 महामारी से सुरक्षित वातावरण मुहैया करने के लिए हॉकी इंडिया ने एसओपी जारी की है, जिसका पालन करने की शर्त के साथ ही खिलाडिय़ों को बाहर निकलने की व्यवस्था दी जाएगी। वहीं जूनियर और सीनियर दोनों ही टीमों (Hocky india) को यह राष्ट्रीय मानक मानने ही होंगे। इस एसओपी का मकसद, ‘भारतीय हॉकी टीमों के लिए एक सुरक्षित प्रशिक्षण वातावरण की स्थापना करना है, जिससे उन्हें 2021 में ओलंपिक खेलों (सीनियर टीम) और 2021 के जूनियर विश्व कप के लिए अपनी सर्वश्रेष्ठ तैयारी का मौका मिलेगा।

ये भी पढ़ें – आफरीदी के कश्मीर बयान पर यूवी, भज्जी और गंभीर की लताड़, भीख मांगते रहो

निगरानी में रहेंगे खिलाड़ी

भारतीय खेल प्राधिकरण परिसर को कोरोना वायरस से मुक्त रखने के लिए बाहर से आए खिलाडिय़ों पर विशेष ध्यान देने की सिफारिश की गई है। (Hocky india) हॉकी इंडिया द्वारा पारस्परिक रूप से तय किया गया है कि खिलाडिय़ों और सहायक कर्मचारियों के लिए परिसर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं दी गई है। बाहर से आए और जाने वाले खिलाडिय़ों को 14 दिन निगरानी में रखा जाएगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*