Donald-Trump,

ईरान पर अमेरिका सख्त, पेट्रोलियम मंत्री समेत अन्य पर लगाया बैन

पूर्व पेट्रोलियम मंत्री और आईआरजीसी-क्यूएफ के अधिकारी रोस्तम घासेमी के करीबी शामिल

वाशिंगटन। अमेरिका ने ईरान के पेट्रोलियम और तेल मंत्री बिजन जांगनेह के साथ-साथ 10संस्थाओं, 7 व्यक्तियों और 2 जहाजों पर प्रतिबंध (The restriction) लगाए हैं। अमेरिका के ट्रेजरी विभाग ने सोमवार को यहां जारी एक बयान में बताया कि आज से ईरान के पेट्रोलियम मंत्रालय और ईरान की तेल कंपनी (एनआईओसी) और राष्ट्रीय ईरानी टैंकर कंपनी (एनआईटीसी) पर इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉप्र्स-क्यूड्स फोर्स को उनके वित्तीय मदद को लेकर प्रतिबंध लगाए गए है।

विभाग ने कहा कि पूर्व पेट्रोलियम मंत्री और आईआरजीसी-क्यूएफ के अधिकारी रोस्तम घासेमी के करीबी कई व्यक्तियों को इसमें शामिल किया गया है जबकि अन्य को वेनेजुएला से संबंधित होने के कारण प्रतिबंध (The restriction) सूची में जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि अस्थिता के लिए पेट्रोलियम क्षेत्र के फंड का इस्तेमाल कर रहा है। उन्होंने ईरान पर आतंकवाद के समर्थन का आरोप लगाया। बता दें कि हाल ही में ईरान संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबन्धों (The restriction) से आजाद हो गया है। इस आजादी के बाद अब ईरान पारंपरिक हथियार खरीदने और बेचने के लिए आजाद हो गया है। लेकिन ईरान ने अब दिए हैं कुछ खतरनाक संकेत जो उसके इन्तकाम की शक्ल में सामने आ सकते हैं।

ईरान से हथियारों की बिक्री, संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों का उल्लंघन

प्रतिबंध के हटते ही ईरान टैंक, हेलिकॉप्‍टर, बख्तरबंद वाहन, लड़ाकू विमान और हैवी अटिज़्लरी, तोपें आदि खरीद भी सकता है और बेच भी सकता है। हालांकि अमेरिकी प्रशासन का कहना है कि यदि कोई देश ईरान को हथियारों की बिक्री करता है तो वह अभी भी संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों का उल्लंघन होगा।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*