Tabligi Jamat

तब्लीगी जमात के कथित ट्रस्ट का खुलासा, करोड़ों के ट्रांजेक्शन का पता चला

नई दिल्ली. तब्लीगी जमात (Tabaligi Jamat) के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। ED ने जमात के कथित ट्रस्ट की पतासाजी कर ली है जिसके जरिए करोड़ों के ट्रांजेक्शन की बात समाने आ रही है। इस ट्रस्ट का नाम मदरसा काशिफ उल उलूम बताया जा रहा है, जिसका अकाउंट बैंक ऑफ इंडिया में होने की बात सामने आई है।

प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) को तबलीगी जमात के कथित ट्रस्ट के बैंक ऑफ इंडिया के मौजूद खाते में करोड़ों रुपए के लेनदेन की जानकारी हाथ लगी है। ED ने बैंक ऑफ इंडिया से इस ट्रस्ट के सभी खातों की डिटेल मांगी है। इसके बाद अब मौलाना साद के बेटों और उसके करीबी लोगों से भी इस ट्रस्ट के बारे में पूछताछ की जाएगी।

यह भी पढ़ें- होटल व्यंकटेश में ठहरा था एम्स का कोरोना पॉजीटिव कर्मचारी, सील किया इलाका

वहीं प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) इस मामले में निजामी नाम के शख्स पर भी निगाह रख रहा है। बताया जा रहा है कि निजामी का होटल और इत्र का बिजनेस भी है। इसके साथ ही ED को अब्बास अफगानी नाम के किसी शख्स पर भी शक है। जो कथित तौर पर हवाला का काम करता है।

यह भी पढ़ें- Actor Ajaz Khan: एक्टर एजाज खान को मिली जमानत, बाहर आते ही फिर किया ट्वीट

प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने तब्लीगी जमात के मुखिया मौलाना साद पर धन शोधन निवारण अधिनियम (PMLA) के तहत आपराधिक मामला दायर किया हुआ है। मौलाना साद ED द्वारा दायर ईसीआईआर में नामित लगभग नौ लोगों के समूह में से हैं, जिसने साद द्वारा बनाए गए तबलीगी ट्रस्ट में लेनदेन के संबंध में एक जांच शुरू की है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*