portable ventilater

कोरोना वायरस से जंग लड़ रहे डॉक्टरों की मदद करेगा ये खास Ventilator, यहां हो रहा इसका निर्माण

कानपुर. कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों का उपचार करने वाले डॉक्टर और स्वस्थ्यकर्मी कोरोना वायरस के चपेट में ना आए, इसलिए भारतीय प्रौद्योगिक संस्थान (IIT) कानपुर के छात्रों ने पोर्टेबल वेंटिलेटर (Ventilator) तैयार किया है। जल्द ही मरीजों की टेस्टिंग के बाद इसको स्वास्थ्य विभाग के हेंडओवर किया जाएगा। डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों की सुरक्षा और सुविधाओं को देखते हुए इस वेंटिलेटर Ventilatorमें खास फीचर इनबिल्ड किया गया है।

मोबाइल से होगा संचालित

कानपुर IIT के निदेशक प्रो. अभय करंदीकर ने बताया कि भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए IIT कानपुर और पूर्व छात्र आगे आए और उन्होंने 4 दिन में पोर्टेबल वेंटिलेटर (Ventilator) का प्रोटाटाइप तैयार कर लिया है। वेंटिलेटर निर्माण करने वाली टीम के मुताबिक वेंटिलेटर मोबाइल फोन से संचालित होगा। इसे डॉक्टर या स्वास्थ्यकर्मी दूर से चला सकता है। ऑक्सीन स्लो और फॉस्ट दोनो किया जा सकता है, इसके लिए छोटा ऑक्सीजन सिलेंडर जोड़ा है। वेंटिलेटर में बैटरी लगी है, यदि कुछ देर के लिए लाइट बंद हो जाएगी तो भी यह चलता रहेगा। विशेषज्ञों के मुताबिक अब इसे जल्दी मरीजों पर टेस्ट किया जाएगा। संस्थान की इस खोज पर टीम की हौसलाफजाई IIT निदेशक ने की है।

लगातर प्रयोग से मिली सफलता

IIT प्रबंधन से मिली जानकारी के अनुसार पूर्व छात्र छात्र हर्षित राठौर और निखिल कुरेले ने IIT के इनोवश्न एंड इन्क्यूबेशन हब के साथ मिलकर पोर्टेबल वेंटिलेटर (Ventilator) का आइडिया विकसित किया। कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए हब के इंचार्ज प्रो. अमिताभ बंधोपाध्याय ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग के प्रो. समीर खंडेरकर, प्रो. जे राजकुमार, प्रो. अरुण साहा, और प्रो. विशाल भट्टाचार्य से बात की तो उन्होंने मॉडल बनाने में तकनीकी मदद की। सभी विशेषज्ञों ने 4 दिन तक लगातार इसमें काम किया और वेंटिलेटर तैयार हो गया।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*