The first train from Telangana to go to Jharkhand with 1200 laborers

लॉकडाउन में तेलंगाना से 1200 मजदूरों को लेकर झारखंड की ओर रवाना हुई पहली ट्रेन

रायपुर . गृह मंत्रालय की इजाजत मिलने के बाद शुक्रवार को ट्रेन lockdown train के पहिए एक बार फिर दौड़ पड़े। राज्य के मजदूरों को वापस लाने के लिए राज्य सरकारों से प्रयास शुरू किए हैं। इसी के तहत तेलंगाना के लिंगमपेल्ली में फंसे मजदूरों को लाने एक स्पेशल ट्रेन की व्यवस्था की गई, जो कि आज रात को झारखंड पहुंचेगी। इस ट्रेन में कुल 1200 मजदूर सवार है। जो अब आखिरकार अपने घर पहुंचेंगे। बता दें कि राज्यों ने केंद्र से अपील की थी कि दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को लाने फ्री में lockdown train ट्रेन की व्यवस्था कराई जाए।

ये भी पढ़ेभारत में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 35 हजार 43

इसी वजह से तेलंगाना से झारखंड के लिए पहली ट्रेन चलाई गई। यह ट्रेन सुबह 5 बजे तेलंगाना के लिंगमपेल्ली से छूट गई। जो अब रात को 11 बजे झारखंड के हतिया पहुंचेगी। कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए हर कोच में सिर्फ 56 मजदूरों को बैठने की इजाजत दी गई है। रेल lockdown train मंत्रालय का कहना है कि राज्य सरकार की अपील पर इसे चलाया गया है। जिसमें सभी तरह के नियमों का पालन किया गया है। ये सिर्फ इकलौती ट्रेन थी, जिसे लॉकडाउन के बीच चलाया गया है।

ये भी पढ़े आईजी रतनलाल डांगी ने लिखा विद्यार्थियों के नाम खुला पत्र, साथियों…

बता दें कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मजदूरों की वापसी के लिए स्पेशल ट्रेन चलाने की मांग को लेकर रेलमंत्री पीयूष lockdown train गोयल से बात की थी। सीएम ने रेलमंत्री से कहा है कि राज्यों को विशेष ट्रेनों की जरूरत होगी ताकि दूसरे राज्यों में फंसे छात्रों, प्रवासी मजदूरों को वापस लाया जा सके। बताया जा रहा है कि इस ट्रेन में बैठे मजदूरों को पहले कई तरह की स्क्रीनिंग से होकर गुजरना पड़ेगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*