Supreme Court of India, Historic decision of the Supreme Court,

सुप्रीम कोर्ट ने कहा बंद नहीं होंगी शराब की दुकानें.. होम डिलीवरी पर करें विचार

नई दिल्ली. कोरोना वायरस की महामारी के बीच शराब दुकानें खोले जाने के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए देश की सर्वोच्च अदालत (Supreme court of india) ने कहा है कि शराब की बिक्री पर रोक नहीं लगाया जा सकता। सोशल डिस्टेंशिंग को लेकर उठाए गए सवालिया निशान पर कोर्ट ने कहा है कि राज्य सरकारों को होम डिलीवरी या ऑनलाईन बिक्री जैसे विकल्पों की तलाश करनी चाहिए।

औरंगाबाद हादसे में मरे मजदूरों के परिजनों को मुआवजा देगी शिवराज सरकार

दरअसल याचिकाकर्ता ने कहा था कि लॉकडाउन के बीच शराब की दुकानें खुल गई है लिहाजा दुकानों के बार कई जगहों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है। दुकानों के बाहर लंबी-लंबी लाइनें लग रही हैं और इससे कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। लिहाजा इन दुकानों को बंद किया जाना चाहिए। याचिका पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट (Supreme court of india) ने शराब बिक्री पर रोक लगाने से इंकार कर दिया।

एयरफोर्स का फाइटर प्लेन क्रैश, पायलट सुरक्षित

इस याचिका की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट (Supreme court of india) के जस्टिस अशोक भूषण की बेंच ने कहा कि हम इसको लेकर कोई आदेश पारित नहीं करेंगे। यह राज्य सरकारों का नीतिगत मसला है, लेकिन राज्यों को सोशल डिस्टेंसिंग के मानदंड और मानकों को बनाए रखने के लिए शराब की होम डिलेवरी या अप्रत्यक्ष बिक्री पर विचार करना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*