State traders will play clap and thali to protest against exemption given to e-commerce companies

ई-कॉमर्स कंपनियों को मिली छूट के विरोध में प्रदेश के व्यापारी बजाएंगे ताली और थाली

दुर्ग . छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स की भिलाई E commerce इकाई कुछ ही देर में जिला कलेक्टर से मुलाकात कर उन्हें अपना विरोध ज्ञापन सौपने जाएंगे। ज्ञापन में कहा गया है कि 20 अप्रैल के बाद ई कामर्स E commerce कंपनियों(अमेजन,फ्लिप्कार्ड व स्नैपडील) को इलेक्ट्रॉनिक्स, टीवी, मोबाइल और अन्य सामान बेचने की खुली छूट और दुकानों में बंदिश के फैसले का छत्तीसगढ़ चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री भिलाई इकाई पुरजोर विरोध करती है। भिलाई चैम्बर सरकार द्वारा लिए गए इस निर्णय की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए तत्काल इस निर्णय को वापस लेने की मांग करती है।

सीएम भूपेश ने लिया #MeAt20 चैलेंज, टी-शर्ट में दिख रहे हैं डैशिंग

ऐसे तो होगा हमारे साथ धोखा

व्यापारियों का कहना है कि इस निर्णय से व्यापार जगत को बहुत गहरा आघात पहुंचा है। लॉक डाउन के दौरान एक माह से सरकार के हर कदम के सहयोगी बने जिले के व्यापारी अपना कारोबार बंद रखकर E commerce सामाजिक जिम्मेदारियों को निभाने में हमेशा प्रधानमंत्री के आव्हान पर से सहभागी बने। ऑनलाइन कंपनियों को स्वीकृति देश और प्रदेश की जनता की सेवा, अर्थव्यवस्था में भागीदारी करने वाले व्यापारी वर्ग ने गर्मी के सीजन के साथ शादियों के सीजन के लिए पूर्व में तैयारी कर जरूरत का माल खरीदा था। व्यापारी को लाकडाउन के बाद छूट से कारोबार की उम्मीद थी। केंद्र सरकार द्वारा व्यापारियों को कारोबार की छूट ना देकर ऑनलाइन कंपनियों को समस्त वस्तुओं के व्यापार की अनुमति देना छोटे और मझोले व्यापार को बहुत नुकसान पहुंचा सकता है। ्र

कंपनियां उठाएंगी फायदा

ज्ञापन में कहा गया है कि लॉकडाउन में अपनी जान की परवाह नहीं करते हुए जिस व्यापारी समाज ने प्रदेश और देश की जनता को आवश्यक सामग्री उपलब्ध कराई है उन पर प्रतिबंध और ऑनलाइन कंपनियां जो देश के संकट के समय घर बैठे तमाशा देखी ऐसी कंपनियों को इस प्रकार की छूट देना समझ से परे है। जब ऑनलाइन कंपनियां चालू हो जाएंगी तब सभी लोग सस्ते के लालच में इन विदेशी कम्पनियों से अपना अपना सारा सामान खरीद लेंगे और जब लॉक डाउन खुलेगा तब कोई भी खरीदार बाजारों में नहीं दिखेगा।

सीएम-पीएम से की अपील

व्यापारी वर्ग ने सीएम और पीएम से अपील की है कि जब तक लॉक डाउन ना खुले तब तक किसी भी ऑन लाइन कंपनी को चालू करने की परमिशन ना दें। नहीं तो अपने देश के छोटे बड़े सभी व्यापारियों की आर्थिक स्थिति व देश की जीडीपी बहुत ज्यादा खराब हो जाएगी। पुन: निवेदन केंद्र सरकार अपने इस निर्णय को तत्काल वापस लें।

विरोध में बजाएंगे ताली और थाली

छत्तीसगढ़ चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज छत्तीसगढ़ के व्यापारियों एवं जनता से यह आव्हान करता है ऑनलाइन व्यपार के विरोध में इस रविवार 19 अप्रेल को शाम 7बजे 5 मिनट अपने अपने घरों की बालकनी में खड़े होकर थाली,घंटी और शंख बजाकर अपनी एकजुटता का प्रदर्शन करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*