durg university

दुर्ग विवि के लेटर हैड में एडिटिंग कर स्थगित परीक्षा को दोबारा शुरू कराने का पत्र वायरल, मचा हड़कंप

भिलाई . दुर्ग के हेमचंद यादव विश्वविद्यालय के लेटर पैड का गलत इस्तेमाल करके कुछ असामाजिक तत्वों ने हमांगा मचा दिया। विवि के लेटर हैड को एडिट कर उसमें कोरोना वायरस की वजह से स्थगित की गई परीक्षाओं को दोबारा से शुरू करने का जिक्र है। सोशल मीडिया पर जारी किए गए इस पत्र में कहा गया है कि बीए प्रथम एवं दूसरे वर्ष की परीक्षा जिसे स्थगित किया गया है, वह 17 मार्च से दोबारा शुरू की जा रही है। देखते ही देखते यह फर्जी पत्र हजारों छात्रों तक पहुंच गया। मामला जब विवि के पास पहुंचा तो उसे इसका स्पष्टीकरण जारी करना पड़ा। विवि प्रशासन ने साफ किया है कि परीक्षा स्थ्गन और दोबारा शुरू करने के लिए कोई आदेश जारी नहीं हुआ है। दरअसल, कोरोना वायरस की वजह से प्रदेशभर में चल रही परीक्षाओं को 31 मार्च तक के लिए रोक दिया गया है। शरारती तत्वों द्वारा सोशल मीडिया पर फर्जी पत्र डालने से छात्रों में भ्रम उत्पन हो गया। विद्यार्थी लगातार विवि पहुंचकर इस पत्र के संबंध में पूछताछ कर रहे हैं। मामला बढ़ता देख दुर्ग विवि प्रशासन ने दुर्ग मोहन नगर थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करा दी है।

आनन-फानन में जारी हुआ विवि से पत्र

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे फर्जी पत्र जब विवि को मिला तो उन्होंने सबसे पहले इसकी सूचना कुलपति को दी। इसके बाद आनन-फानन में अधिकारियों ने स्पष्टीकरण आदेश अपनी वेबसाइट पर डाल दिया ताकि विद्यार्थीयों को इससे परेशानी का सामना न करना पड़े। सबसे अहम बात यह है कि शारारती तत्वों ने जो फर्जी पत्र सोशल मीडिया पर एडिट करके वायरल किया उसमें विवि के लेटरपैड का इस्तेमाल किया। यही नहीं कुलसचिव डॉ सीएल देवांगन के फर्जी हस्ताक्षर भी कर डाले।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*