अजीबोगरीब एप्लीकेशन: ‘Sir, तीन दिन बाद मां मरने वाली है’, टीचर को ये बोलकर छात्र ने मांगी छुट्टी, फिर जो हुआ

trange leave application: भागलपुर। बिहार में इन दिनों शासकीय स्कूल के टीचर छुट्टी के लिए अजीबोगरीब आवेदन लिख रहे हैं। हद तो तब हो जाती है जब, इस एप्लीकेशन में भविष्य में उनके साथ होने वाली घटनाओं का जिक्र करके छुट्टी मांग रहे हैं। कोई लिख रहा है कि 5 दिसंबर को उसकी मां का देहांत होने वाला है, कोई लिख रहा है कि दो दिन बाद उसका पेट खराब हो जाएगा, तीन दिन की छुट्टी चाहिए। बिहार में इस तरह के अजीब लीव एप्लीकेशन मुंगेर, भागलपुर, बांका सहित कई जिलों में वायरल हो रहे हैं।

वायरल होने वाले इन आवेदनों में सामने आया कि इस तरह की चिट्ठी के जरिए स्कूल के टीचर्स विभाग के दो फैसलों का विरोध कर रहे थे। दरअसल, शिक्षा विभाग ने स्कूलों में शिक्षकों की अटेंडेंस के लिए सेल्फी सिस्टम और सामान्य अवकाश के लिए पहले से सूचना देने का 29 नवंबर 2022 को आदेश जारी किया था।

Strange Leave Applicationअब कहा जा रहा है कि बिहार के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों को मंगलवार से सेल्फी वाले नियम से मुक्ति मिल जाएगी। इसके साथ ही आकस्मिक अवकाश पर भी आज यानि सोमवार को बड़ा फैसला हो जाएगा। इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं है लेकिन कहा जा रहा है कि सोमवार को संबंधित जिला शिक्षा पदाधिकारी आदेश जारी कर सकते हैं।

अवकाश के संदर्भ में भागलपुर के जिला शिक्षा संजय कुमार के नाम से जारी आदेश पत्र में सामान्य स्थिति में अवकाश के लिए तीन दिन पहले आवेदन देने की बात कही गई थी। लेकिन शिक्षकों ने इसे आकस्मिक अवकाश बताकर इसका सोशल मीडिया पर मजाक बनाते हुए विरोध किया। किसी शिक्षक ने लिखा कि ‘मेरी मां बीमार है। तीन दिन बाद मर जाएगी। इसलिए छुट्टी चाहिए।’ कोई लिख रहा है कि ‘आज पार्टी थी, ज्यादा खा लिए। परसों तबीयत बिगड़ी जाएगी, इसलिए छुट्टी चाहिए।’ इस तरह के पत्र खूब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं।

शिक्षकों को नाराज नहीं करना चाहती सरकार
सूत्रों के अनुसार तो सेल्फी सिस्टम के फैसले का विरोध बड़ी संख्या में शिक्षकों की ओर से किया जा रहा है। वहीं चुनावी मौसम में सरकार खासकर शिक्षकों की नाराजगी का कोई रिस्क लेना नहीं चाहती है। ऐसे में शिक्षकों को खुश करने के लिए संभव है कि इस फैसले को वापस ले लिया जाएगा। वहीं शिक्षकों को मिलने वाले आकस्मिक अवकाश पर भी विरोध स्पष्ट दिखने लगा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*