School closed, buses did not run yet transportation fee was collected, notice issued

स्कूल बंद, बसें चली नहीं फिर भी वसूल लिया ट्रांसपोर्टेशन शुल्क, नोटिस जारी

दुर्ग . लॉकडाउन के बीच निजी स्कूलों (Private school) की मनमानी का बड़ा मामला सामने आया है। लॉकडाउन में स्कूल पूरी तरह से बंद हैं। बसें भी नहीं चलीं, लेकिन निजी स्कूलों ने पालकों से बस का किराया वसूल लिया। ट्विनसिटी के नामी स्कूलों ने बीते दो महीने का ट्रांसपोर्टेशन शुल्क जबरिया लिया। अब जिला शिक्षा विभाग ने ऐसे स्कूलों को शोकॉज नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

ये भी पढ़े – फिर हेरा फेरी फिल्म की तर्ज पर ठगी की घटना को अंजाम देने वाले गिरफ्तार

पालकों ने न्यूज स्लॉट्स को स्कूलवार फीस की पावती भी मुहैया कराई है, जिसमें स्कूलों की मनमानी साफ नजर आ रही है। रिसाली के एक निजी स्कूल (Private school) ने बच्चों से 1100 रुपए प्रति माह के हिसाब से दो माह का ट्रांसपोर्ट ्शुल्क वसूल किया है। वहीं सेक्टर-10 के एक स्कूल की भी यही शिकायत मिली।

ये भी पढ़े – छत्तीसगढ़ में हर दिन 3 हजार लोगों के सैंपल की जांच कर रहा स्वास्थ्य विभाग

Private school ने दिया यह तर्क

स्कूलों (Private school) ने डीईओ को कहा है कि उन्होंने सिर्फ सर्विस चार्ज ही लिया है, जबकि ट्रांसपोर्ट के लिए डीजल चार्ज नहीं लिया। फिलहाल, दो दिनों के भीतर स्कूल डीईओ को जवाब देेंगे। इनके बाद ही आगे की कार्रवाई तय होगी। डीईओ प्रवास सिंह बघेल ने बताया कि स्कूलों की लगातार ऐसी ही शिकायत मिली है, जिसके चलते उनको नोटिस जारी किए गए हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*