rte,

RTE की पहली लॉटरी में 18 हजार 488 बच्चों की चमकी किस्मत

14 जिलों के 2190 स्कूलों में दाखिले देने निकली पहली लॉटरी

रायपुर. शिक्षा का अधिकार अधिनियम (RTE) के तहत निजी स्कूलों में बीपीएल परिवार के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए आज पहली लॉटरी निकाली गई। इस लॉटरी के माध्यम से 18 हजार 488 बच्चे स्कूलों में दाखिले के लिए चयनित हुए। दाखिले के लिए पहली लॉटरी राज्य के 14 जिलों के 2190 स्कूलों में आरटीई के तहत बच्चों को प्रवेश देने के लिए सभी विकल्पों के आधार पर निकाली गई। संचालक लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा चयनित बच्चों को प्रवेश दिलाने हेतु उनके पालकों को एसएमएस के माध्यम से सूचना भेजी दी गई है।

2 हजार 190 स्कूलों के लिए छात्रों का चयन

लोक शिक्षण संचालनालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार RTE पहली लॉटरी के लिए 14 जिलों के 2 हजार 190 स्कूलों के लिए आरटीई के तहत प्रवेश के लिए 26 हजार 468 सीटें थी। इन सीटों के लिए कुल 27 हजार 894 आवेदन प्राप्त हुए। प्राप्त आवेदनों में से 704 रद्द हुए और 7 हजार 115 का आबंटन नहीं हुआ। अपूर्ण स्थिति की 25 और 1562 मिलती-जुलती स्थिति के आवेदन थे।

RTE इन जिलों में इतने छात्रों का चयन

  • दुर्ग 4 हजार 350
  • कोरबा 3 हजार 911
  • बस्तर 1 हजार 566
  • कोरिया 1 हजार 461
  • धमतरी 1 हजार 384
  • कवर्धा 1 हजार 305
  • बलरामपुर 1 हजार 247
  • बेमेतरा 1 हजार 99
  • बालोद 164
  • कोंडागांव 647
  • बीजापुर 192
  • दंतेवाड़ा 129
  • सुकमा 120
  • नारायणपुर 83

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*