Private school,

बोर्ड परीक्षा: ऑफलाइन परीक्षा आयोजित कराने के पक्ष में निजी स्कूल

निजी स्कूलों का प्रतिनिधित्व करने वाले एसोसिएशन ने पत्र लिखकर जताई सहमति

रायपुर। प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते ग्राफ के बीच राज्य सरकार के निर्देश पर छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने बोर्ड परीक्षा संचालन करने का निर्देश केंद्र प्रभारियों व जिला शिक्षा अधिकारियों को दिया है। बोर्ड परीक्षा का ऑफलाइन संचालन आसानी हो सके, इसलिए प्रदेश के निजी स्कूल संचालकों (Private School) ने इस पर सहमति जताई है।

प्रदेश में निजी स्कूलों का प्रतिनिधत्व करने वाले छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन (Private School) के अध्यक्ष राजीव गुप्ता ने कहा, कि छात्रहित के मद्देनजर बोर्ड परीक्षा आयोजित होना चाहिए। बोर्ड परीक्षा संचालन में किसी भी तरह की अव्यवस्था ना हो, इसलिए एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने निजी स्कूलों के स्टॉफ की सेवाएं लेने पर सहमति जताई है। एसोसिएशन की इस पहल के बाद विभागीय अधिकारियों ने राहत ली है। आपको बता दे कि कोरोना का बढ़ता ग्राफ देखकर छत्तीसगढ़ शिक्षक संघ व प्रदेश शिक्षक फेडरेशन ने परीक्षा आयोजन ना कराने के संबंध में पत्र लिखा था। पत्र मिलने से विभागीय अधिकारी परेशान थे, लेकिन निजी स्कूल (Private School) संचालकों की पहल ने स्कूल शिक्षा विभाग को संजीवनी देने का काम किया है।

बोर्ड पर्यवेक्षकों को लॉकडाउन में राहत

संक्रमण की वजह से प्रदेश के कई जिलों में लॉकडाउन लग गया है। लॉकडाउन के दरमियान कई जिलों में बोर्ड परीक्षा होगी। बोर्ड परीक्षा के दौरान पर्यवेक्षकों को परेशानी ना हो, इसलिए स्कूल शिक्षा विभाग के जिम्मेदान पत्र जारी करेंगे। लॉकडाउन की जांच के दौरान पत्र दिखाकर व कार्यालय आईडी दिखाकर पर्यवेक्षक पुलिस की जांच से बच सकेंगे और बिना रोका टोकी परीक्षा आयोजित कराने के लिए समय पर पहुंच सकेंगे।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*