pil,

मीडियाकर्मियों के हित में दिल्ली हाईकोर्ट में Activist ने दायर की PIL

अधिवक्ता अर्पित भार्गव द्वारा लगाई pil

दिल्ली. केंद्र सरकार पत्रकारों को 50 हजार चिकित्सा सुविधा और LIC सुविधा प्रदान करें, इसलिए PIL दायर की गई है। यह याचिका दिल्ली हाईकोर्ट में लगाई गई है। PIL दायर करने वाले शख्स ने कोर्ट से अपील की है, कि वे केंद्र सरकार को निर्देश दे, ताकि मीडियाकर्मियों को सरकार से आर्थिक सहायत प्राप्त हो सके। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक PIL सोशल एक्टिविस्ट और अधिवक्ता अर्पित भार्गव द्वारा लगाई गई है।

पढ़े: Tabligi or deobandi दुनिया को कोरोना से डर के साए में ला रहे तबलीगी और देवबंदी?

याचिकाकर्ता की PIL पर हाईकोर्ट ने लॉकडाउन की अवधि शिथिल होने के बाद याचिका पर सुनवाई करने का निर्देश जारी किया है। आपको बता दे कि मीडियाकर्मी हर विषम परिस्थितियों में जनहित को ध्यान में रखते हुए अपने कर्त्तव्यों को निर्वाहन करता है। अपने काम को करने के दौरान कई बार वो चोटिल हो जाता है या उसका स्वास्थ्य खराब हो जाता। परिवार की आर्थिक स्थिती ठीक ना होने के कारण उसे आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ता है। स्वास्थ्य खराब होने पर उसे सरकार से मदद मिल सके इसलिए लॉकडाउन के दौरान ये जनहित याचिका लगाई गई है।

कोरोना महामारी में कर रहे ड्यूटी

आपको बता दे कि कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आने के खतरे के बीच जनहित को ध्यान में रखते हुए मीडियाकर्मियों द्वारा पूरे देश में सूचनाओं का आदान प्रदान किया जा रहा है। कई मीडियाकर्मी खबरों को आदान प्रदान करने के चक्कर में वायरस की चपेट में आ चुके है। संक्रमित मीडियाकर्मियों को उपचार चिकित्सकों द्वारा किया जा रहा है और उनक परिवार को उनसे मिलने की इजाजत नहीं है।

पूर्व में इन मुद्दों पर लगी थी PLI

दिल्ली हाईकोर्ट में यह विषम परिस्थितियों के दौरान लगी पहली PIL नहीं है। इससे पहले भी दिल्ली हाईकोर्ट में जनसंख नियंत्रण के संबंध में, ऑड एंड इवन के संबंध में PIL दायर की जा चुकी है। ऑड-इवेन की याचिका हाईकोर्ट ने खारिज कर दी थी। जनसंख्या नियंत्रण के संबंध में दायर की गई PIL में सुनवाई हुई थी, जिसके बाद दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा केंद्र को निर्देश जारी किया गया था।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*