इन राशि वालों को नहीं खाना चाहिए ये चीज, जानिए अभी नहीं तो

मेष- इस राशि के जातक निर्भीक, साहसी और प्रतियोगी प्रवृति के होते हैं. अपने जिद्दी और उत्साहपूर्ण स्वभाव के दम पर वह हमेशा आगे बढ़ते रहते हैं. ये लोग अपनी ताकत, धैर्य और आत्मविश्वास का लाभ उठाकर प्रगति करते हैं. इनका वजन आसानी से नहीं बढ़ता है. इनकी बॉक्सिंग, वेटलिफ्टिंग, मार्शल आर्ट्स और फुटबॉल जैसी एक्टिविटीज में दिलचस्पी काफी ज्यादा होती है. हालांकि इन्हें परिणामों को लेकर यथार्थवादी और धैर्यवान रहना चाहिए. मेष राशि के जातकों को मसालेदार खाना और रेड मीट जैसी चीजें पसंद होती हैं और यही वजह है कि ये लोग एन्जाइटी, एसिडिटी, मुंहासे, बवासीर, हाइपरटेंशन, हार्ट डिसीज और इनफ्लेमेशन की समस्या का शिकार होते हैं. इस राशि के जातकों को स्पाइसी फूड और रेड मीट की बजाए नींबू, यॉगर्ट और हरी सब्जियों पर ध्यान देना चाहिए. इन्हें सोयाबीन, सरसों, लौंग, दालचीनी, लहसुन, अदरक, लेमन टी और सी फूड के साथ खूब सारा पानी अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए. इन्हें विटामिन-ई से भरपूर मछली का सेवन करना चाहिए, जो इनके लिए बहुत जरूरी है.

वृष- वृष राशि वाले अपने स्थिर और जमीन से जुड़े व्यवहार के लिए जाने जाते हैं. इनमें बहुत धैर्य होता है. ज्यादा खान-पान और आराम की वजह से ये कुछ ज्यादा ही फूल जाते हैं. वर्कआउट जैसे कठिन काम के लिए इनका प्रतिबद्ध रहना मुश्किल होता है. ये बंद जगहों पर एक्सरसाइज करने की बजाए प्राकृतिक वातावारण में साइकिलिंग, वॉकिंग और स्विमिंग करना चुन सकते हैं.

मिथुन- इस राशि के लोग बौद्धिक रूप से सतर्क रहने के लिए जाने जाते हैं. वर्कआउट रूटीन के लिए प्रतिबद्ध रहना इनके लिए कोई मुश्किल बात नहीं है. ये लोग फिट और फ्लेक्सिबल रहना पसंद करते हैं और ग्रुप में वर्कआउट को प्राथमिकता देते हैं. इन्हें जिमनास्टिक्स, साइकिलिंग, स्विमिंग, ऐरोबिक्स, डांसिंग और टेनिस जैसी एक्टिविटीज पंसद होती हैं. इनमें छाती से जुड़े विकार, अस्थमा, खांसी, नर्वस डिसॉर्डर, ड्राई स्किन और इंसोमेनिया की संभावना अधिक होती है. इसलिए इन्हें उबली हुई सब्जियां, नट्स और कैल्शियम, मैग्नीशियम जैसे हाई न्यूट्रिएंट्स और मिनरल्स का सेवन करना चाहिए.

कर्क- इस राशि के जातक न केवल संवेदनशील, बल्कि भावुक प्रवृत्ति के भी होते हैं. इन्हें परिवार के साथ रहना काफी पसंद होता है. ये लोग इरादे के बहुत पक्के होते हैं. एक बार डाइटिंग और न्यूट्रिशन परिवार का हिस्सा बन जाए तो ये लोग वजन घटाकर ही दम लेते हैं. पेट की चर्बी को घटाने के लिए इन्हें स्वामिंग, स्ट्रेचिंग और एक्सरसाइज करना पसंद होता है. इस राशि के जातकों को एल्कोहल, चिकनाई वाला खाना, दूध से बनी चीजें, नॉवेजिटेरियन फूड और ज्यादा नमक खाने से परहेज करना चाहिए. इन्हें उबली हुई सब्जियों के साथ नट्स, फल और जैतून की पत्तियों का सेवन करना चाहिए.

सिंह- सिंह राशि वालों को एक्सरसाइज करना पसंद होता है, लेकिन इसके लिए आप इन्हें प्यार से राजी कर सकते हैं. इनमें संगीत को लेकर जुनून होता और ऐरोबिक डांस में इनकी दिलचस्पी होती है. खासतौर से इनका वर्कआउट रूटीन सुबह की खुली हवा में होना चाहिए. चूंकि इनमें हार्ट अटैक, रीढ़ व डाइजेशन से जुड़ी तकलीफ और माइग्रेन की समस्या अधिक होती है, इसलिए इन्हें पूरी तरह पके हुए खाने का ही सेवन करना चाहिए.

कन्या- कन्या राशि के जातकों को उनके परफेक्शनिज्म की वजह से जाना जाता है. हालांकि अगर इन्हें तुरंत परिणाम न मिले तो ये आसानी से हतोत्साहित हो जाते हैं. ये लोग लंबी दौड़, साइकिलिंग, फुटबॉल, स्क्वैश, क्रिकेट, जिमनास्टिक्स और पहाड़ चढ़ने जैसी एक्सरसाइज करने में सक्षम होते हैं. इन्हें स्ट्रीट फूड से परहेज करना चाहिए और कैल्शियम का ज्यादा सेवन करना चाहिए. पालक, ब्रोकली और बंदगोभी इनके डाइजेस्टिव सिस्टम के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है. आर्थराइटिस से बचने के लिए लहसुन का सेवन कर सकते हैं. इन्हें डाइट में सलाद भी शामिल करना चाहिए.

तुला- तुला राशि के जातक फिटनेस के लिए ग्रुप और आसान विकल्पों का चयन करना चाहिए. इसमें लो इम्पैक्ट कार्डियो और स्ट्रेचिंग जैसी एक्सरसाइज हो सकती हैं. इन्हें हैवी एक्सरसाइज करने से बचना चाहिए जो इनकी लोवर बैक पर ज्यादा दबाव डालती हैं. इन्हें ड्राई स्किन, इंसोमेनिया, डायबिटीज और यूरीनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन से जुड़ी समस्या होने की संभावना अधिक होती हैं. इसलिए इन्हें जूस, सूप और खूब सारा पानी पीने की सलाह दी जाती है. उबला हुआ खाना, अदरक, लहसुन और यॉगर्ट भी इनके लिए बहुत फायदेमंद होते हैं. इन्हें सी फूड, अंडे का सफेद भाग और सेब जैसी लो फैट डाइट लेने की सलाह दी जाती है.

वृश्चिक- वृश्चिक राशि के जोतकों को बॉक्सिंग और मार्शल आर्ट जैसी ज्यादा इंटेंसिटी वाली एक्सरसाइज करना पसंद होता है. हालांकि इन्हें इंजरी और टूटे हुए लिगामेंट की रिकवरी के लिए योग और स्ट्रेचिंग भी करनी चाहिए. चूंकि इस राशि के जातकों को गुर्दे में इंफेक्शन और बवासीर की समस्या होने की संभावना अधिक रहती है, इसलिए इन्हें मसालेदार खाना, रेड मीट, अल्कोहल और ज्यादा फैट वाली डाइट से दूर रहना चाहिए. इन्हें दाल के सेवन से भी बचना चाहिए. इन लोगों को आयरन से भरपूर चीजें जैसे कि केला, पालक और सेब खाना चाहिए.

धनु- धनु राशि के जातक खाने-पीने के बहुत शौकीन होते हैं, इसलिए इन्हें आवश्यक रूप से एक्सरसाइज करनी चाहिए. चूंकि इस राशि के जातक मोटापा, लिवर डिसॉर्डर और डायबिटीज से जुड़ी समस्याओं का ज्यादा शिकार होते हैं, इसलिए अपने फिटनेस रिजाइम इन्हें अपर थाई पर ज्यादा फोकस करना चाहिए. उन्हें जंक फूड, मसाले, सभी प्रकार का फैट और ज्यादा मीठी चीजों से दूर रहना चाहिए. इन्हें साबुत अनाज, हरी सब्जियां, लहसुन, अदरक, नींबू, पपीता, अमरूद और संतरे जैसी चीजें डाइट में शामिल करनी चाहिए. ये लोग रेड मीट की जगह मछली का सेवन कर सकते हैं.

मकर- मकर राशि के जातकों को हर रोज अलग-अलग तरह की एक्सरसाइज के पैटर्न को फॉलो करना चाहिए. इन लोगों को ऐसी एक्टिविटीज से बचना चाहिए जिनमें घुटने, हड्डी या जोड़ों को नुकसान होने की संभावना अधिक होती है. इनमें आर्थराइटिस, घुटने की चोट, हड्डियों का विकार, एसिडिटी और साइनसाइटिस का जोखिम बहुत ज्यादा होता है. इन्हें गर्म सूप, मशरूम, सीड फूड और कैल्शियम-विटामिन से भरपूर चीजें अपनी डाइट में शामिल करनी चाहिए. इन्हें बीयर, पैकेटबंद जूस, ब्रेड, आटा और बासी खाना खाने से बचना चाहिए.

कुंभ- इस राशि के जातक एक निश्चित रूटीन तक सीमित रहना पसंद नहीं करते हैं. इसलिए इन्हें मोटिवेटिड रखने के लिए हर रोज अलग-अलग तरह की एक्सरसाइज करने के लिए प्रेरित करना चाहिए. इनके लिए ब्लड सर्कुलेशन को दुरुस्त रखना बहुत जरूरी होता है. इसके लिए रनिंग और स्विमिंग जैसी एक्टिविटीज सबसे अच्छी होती हैं. इन लोगों में हड्डी की समस्या, पैर के निचले हिस्से में चोट, ब्लड डिसॉर्डर और टखने में सूजन का जोखिम अधिक होता है. इन्हें बहुत ज्यादा स्टार्क वाली चीजें नहीं खानी चाहिए. ये लोग ब्राउन राइस, स्प्राउट, हरी सब्जियां, मछली और तरह-तरह के फलों का सेवन कर सकते हैं.

मीन- मीन खेल वाली राशि नहीं है, इसलिए इसके जातकों को भारी भरकम एक्टिविटीज से बचना चाहिए. हाई इंटेंसिटी वर्कआउट की बजाए इन्हें योग, डांस, वॉटर स्पोर्ट्स जैसी एक्टिविटीज पर ध्यान देना चाहिए. मीन राशि के जातकों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है, इसलिए इन्हें शराब या दूसरी बुरी लतों से दूर रहना चाहिए. इन्हें फाइबर युक्त फल-सब्जियों का सेवन करना चाहिए. इन्हें नियमित रूप से स्टीम, सौना और अरोमा जैसी आराम देने वाली थैरेपीज के लिए जाना चाहिए. कोल्ड ड्रिंक्स और मसालेदार खाने से दूर रहना चाहिए. पानी का पर्याप्त सेवन करना चाहिए.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*