Parts of the animals found here in Raipur, now their DNA will be

रायपुर के इन कारोबारी भाईयों की वन अफसरों को तलाश, कारण है यह़..

रायपुर. राजधानी के गोल बाजार इलाके में शक्तिदर्द्धक दवा बेचने के लिए इन मशहूर कारोबारी रत्नेश कुमार गुप्ता व दुर्गा प्रसाद-शिवकुमार गुप्ता की रायपुर वनमंडल के अधिकारी तलाश कर रहे है। गुप्ता ब्रदर्स पर शेड्यूल-1 और शेड्यूल-2 श्रेणी के वन्य प्राणियों का अवशेष बेचने का आरोप है। कारोबारी भाईयों के यहां से जब्त वन्य प्राणियों के अवशेष की डीएनए रिपोर्ट वन अफसरों को मिल चुकी है। अवशेष का डीएनए रिपोर्ट आने के बाद से अफसर गुप्ता ब्रदर्स की तलाश कर रहे है, ताकि उन पर कार्रवाई की जा सके।

यह है पूरा मामला

30 अगस्त 2018 को रायपुर वनमंडल के अधिकारियों ने दिल्ली की संस्था पीपुल्स फॉर एनिमल्स के एक्टिविस्ट की सूचना पर कारोबारी भाईयों की दुकान में छापा मारा था। छापामार कार्रवाई के दौरान कारोबारी भाईयों के दुकान से प्रतिबंधित लार्ज बंगाल मोनिटर लिर्जाड के 300 प्रजनन अंग (प्रचलित नाम गोह या गोहिया), जंगली बिल्लीकी पित्त थैली (वाइल्ड कैट) व सियार ( जैकाल) की नाभि सहित प्रतिबंधित समुद्री वनस्पति सी फैन (इंद्रजाल) बरामद किया था।

दिसंबर में आई डीएनए रिपोर्ट

गुप्ता ब्रदर्स की दुकान से अवशेष जब्त करके वन अधिकारियों ने न्यायाल में पेश किया। अवशेष की डीएनए रिपोर्ट ना होने की वजह से कारोबारी भाईयों को जमानत मिल गई। दिसंबर माह में अवशेष की डीएनए रिपोर्ट वन अधिकारियों के कार्यालय पहुंची। अफसरों ने डीएनए रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई करने के लिए गुप्ता ब्रदर्स की तलाश शुरु की तो आरोपी अंडरग्राउंड हो गए। आरोपियों के अंडरग्राउंड होने पर तत्कालीन डीएफओ एम.मर्सीबेला ने गुप्ता ब्रदर्स की गिरफ्तारी करने के लिए 4 अफसरों की टीम बनाई थी। इसी दौरान डीएफओ एम.मर्सीबेला का ट्रांसफर होने के बाद गुप्ता ब्रदर्स की फाइल फिर से अलमारी में कैद हो गई है।

कारोबारियों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

डीएफओ एम.मर्सीबेला के बाद रायपुर वनमंडल का चार्ज सम्हालने वाले डीएफओ बीएस ठाकुर ने न्यूज स्लॉट्स टीम से चर्चा के दौरान बताया कि वन्य प्राणियों का अवशेष बेचने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। गुप्ता ब्रदर्स का केस उनके कार्यकाल से पहले का है। अधीनस्थ अधिकारियों से गुप्ता ब्रदर्स के बारे में पूछताछ की जाएगी और उसके बाद कारोबारी बंधुओं के खिलाफ कार्रवाई शुरू की जाएगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*