palghar n

Palghar Murder Case: आरोपियों में कोई मुस्लिम नहीं

गृहमंत्री ने विपक्ष पर लगाया सांप्रदायिक रंग देने का आरोप

मुंबई. Palghar Murder Case: प्रदेश के जिला पालघर म चोरी के संदेह में गत दिनों भीड़ ने तीन लोगों की बेरहमी से हत्या कर दी थी। इस मामला में पुलिस ने लगभग 101 लोगों को हिरासत में लिया है। पालघर लिंचिंग मामला में प्रदेश के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि आरोपियों में कोई मुस्लिम नहीं है। गृहमंत्री ने विपक्ष पर पूरे मामलें में सांप्रदायिक रंग देने का आरोप लगाया है। 

यह भी पढ़े: Palghar Murder Case: केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मांगा महाराष्ट्र सरकार से रिपोर्ट

पालघर मामलें में राजनीति होना दुर्भाग्य

फेसबुक के माध्यम से गृहमंत्री ने कहा कि पालघर (Palghar Murder Case) मामला पर साप्रदायिक राजनीति होना दुर्भाग्य की बात हे। किसी का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा कि इस मामले में राजनीति करने के बजाए सभी को मिल जुलकर वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से लड़ने का समय हे। गृहमंत्री ने कहा कि मामले की जांच सीआईडी के आईजी स्तर के अधिकारी कर रहे हें।

यह भी पढे़: 3 और 8 साल के भाई-बहन के फैन हुए सीएम भूपेश, दिया बहुत सारा आशीर्वाद

गृहमंत्री ने बताया कि आज वॉट्सएप के जरिये जारी होने वाली आरोपरियों की सूची में कोई मुस्लिम का नाम नहीं है। बता दे कि सूरत जा रहे तीन लोगों को पालघर में हत्या हो गई थी। तीन लोगों में दो साधु बताए जा रहे है। इस मामलें में पुलिस ने 101 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मामले की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिया है। 

101लोगों की गिरफ्तारी 

पालघर (Palghar Murder Case) मामलें में महाराष्ट्र सरकार के निर्देश पर  लोगों पर कार्रवाई हुई है। इसमें से 9 लोग नाबालिग है। पूरे मामलें में लापरवाही होने की वजह से पुलिस महकमें के अधिकारियों ने निरीक्षक समेत दो लोगों को सस्पेंड किया है। केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र सरकार से पूरे मामलें की रिपोर्ट मांगी है। घटना के बाद किसी भी तरह की हिंसा ना हो इसलिए सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस तैनात की गई है। 

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*