छोटे की मौत पर घर आए बड़े ने भी तोड़ा दम, दोनों की एक साथ उठी अर्थी

राजस्थान के बाड़मेर में दो सगे भाइयों की मौत से पूरे गांव में मातम पसर गया. छोटे भाई की मौत के बाद घर पहुंचे बड़े भाई की पानी की टंकी में गिरने से मौत हो गई. जब घर से दोनों भाइयों की अर्थी उठी तो परिजनों का कलेजा फट गया. दोनों भाइयों का एक ही चिता पर अंतिम संस्कार किया गया. यह मामला बाड़मेर के सिणधरी कस्बे के होडू गांव की है.

जानकारी के मुताबिक होड़ू गांव के सारणों का तला निवासी 26 वर्षीय सुमेर सिंह गुजरात के सूरत में काम करता था. 1 दिन पहले यानी मंगलवार को पैर फिसलने से छत से वह नीचे गिर गया था. लेकिन इलाज के दौरान सुमेर सिंह ने अस्पताल में दम तोड़ दिया. उसके शव को अंतिम संस्कार के लिए सारणो लाया गया. छोटे भाई की मौत पर बड़ा भाई सोहन को गांव बुलाया गया.

बुधवार सुबह सोहन सिंह घर से कुछ दूरी पर स्थित टंकी से पानी की बाल्टी भर रहा था तो वह अचनाक उसमें गिर गया और उसकी भी मौत हो गई. 28 साल सोहन सिंह जयपुर में सेकंड ग्रेड की पढ़ाई और कंपटीशन की तैयारी कर रहा था. पिता की तबीयत खराब होने का बहाना बनाकर सोहन सिंह को गांव बुलाया गया था. इस घटना के बाद मानों परिवार पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा.

बताया जा रहा है कि जब काफी देर तक सोहन घर नहीं लौटा तो परिवार के लोग टंकी के पास गए तो देखा कि उसका शव पानी में तैर रहा है. तुरंत ही इस मामले की सूचना पुलिस को दी और शव को बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेज मामले की जांच शुरू की. गांव के बुजुर्गों ने बताया कि दोनों भाईयों में अच्छा मेल मिलाप था. सोहम सिंह पढ़ाई में होशियार था और सुमेर सिंह पढ़ाई में थोड़ा कमजोर था. बड़े भाई सोहन की पढ़ाई का खर्च भी छोटा भाई सुमेर उठाता था.

पुलिस हर एंगल से जांच कर रही है

सिणधरी थानाधिकारी सुरेंद्रसिंह के मुताबिक एक भाई की मौत सूरत में छत से गिरने से हो गई. वहीं दूसरे भाई का पानी की टंकी में पड़ा मिला. परिजनों का कहना है कि पैर फिसलने से टंकी में गिरने से सोहन की मौत हुई है. आत्महत्या की भी आशंका भी जताई जा रही है. ऐसे में पुलिस हर एंगल से जांच कर रही है.

एक साथ उठी अर्थियां और एक ही चिता पर दी मुखाग्नि

दो भाईयों की मौत के बाद जब घर के आंगन से दोनो की एक साथ अर्थियां उठी तो चारों तरफ चीख पुकार मच गई. परिवार के लोगों का रो रोकर बुरा हाल है. दोनों के शवों को अंतिम संस्कार के लिए शमशान भूमि ले जाया गया. जहां परिवार के लोगों ने दोनों को एक ही चिता पर मुखाग्नि देकर अंतिम विदाई दी.

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*