Odisha Tourism,

रोड कैम्पेन करके पर्यटकों को आकर्षित करेगा ओडिशा टूरिज्म

ओडिशा सरकार ने शुरू किया अभियान

पुरी. कोरोना संक्रमण के बीच पर्यटकों को ओडिशा की ओर लुभाने के लिए ओडिशा सरकार (Odisha Tourism) ने जद्दोजहद शुरू कर दी है।

ओडिशा सरकार (Odisha Tourism) के निर्देश पर ओडिशा पर्यटन विभाग ने रविवार को ओडिशा बाय रोड अभियान शुरू किया है। ओडिशा के पर्यटन मंत्री ज्योति प्रकाश पाणिग्रही ने भुवनेश्वर में 9 सुपर बाइकर समूहों के 80 सुपरबाइक्स से युक्त 25 किमी बाइक रैली को हरी झंडी दिखाकर ‘ओडिशा बाय रोड’ अभियान शुरू किया। उन्होंन कहा, कि राज्य ने यात्रियों के लिए अपने पर्यटन क्षेत्र को खोल दिया है।

अर्थव्यवस्था को मजबूत करने शुरू किया अभियान

ओडिशा पर्यटन मंत्री (Odisha Tourism) ज्योति प्रकाश ने कहा, “हम पर्यटकों को पहाड़ी-स्टेशनों, आदिवासी इलाकों, समुद्र तटों पर लुभाने की योजना बनाते हैं। उन्हें भोजन, विरासत, साहसिक, जातीय मुठभेड़ों, कला और हस्तशिल्प, अवकाश, वन्य जीवन और पारिस्थितिकवाद का अनुभव कराते हैं।

हम पर्यटकों को इको-टूर नेचर कैंप, ओटीडीसी प्रॉपर्टीज देखने और ऐसी जगहों पर रातें बिताने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। जो अर्थव्यवस्था को शुरू करने में मदद करेंगी।”  राज्य के पर्यटन सचिव विशाल देव ने कहा कि ‘ओडिशा बाय रोड’ अभियान का उद्देश्य पड़ोसी राज्यों के पर्यटकों को मंदिरों और समुद्र तटों से परे ले जाना है । उन्हें चिलिका लैगून, भितरकनिका राष्ट्रीय उद्यान और कम ज्ञात समुद्री समुद्र तटों जैसे कई अन्य स्थलों का पता लगाने की अनुमति देना है।

पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा

पर्यटन विभाग के अधिकारियों ने कहा कि 1 अक्टूबर से इको रिट्रीट शिविरों के साथ पर्यटन गतिविधियों को और अधिक बढ़ावा मिलेगा। कोणार्क सहित 5 स्थानों पर योजना बनाई जा रही है, जहां यह पिछले साल शुरू हुआ था।

पर्यटन विभाग के सचिव ने कहा कि कोणार्क के अलावा सतकोसिया, भितरकनिका, दारनिगबाड़ी और हीराकुद में इको-रिट्रीट कैंप आयोजित किए जाएंगे। एक अधिकारी ने कहा, “हम राज्य में 42 इकोटूरिज्म गंतव्य खोलने की योजना बनाते हैं, जो 600 से अधिक वन आश्रित समुदाय के सदस्यों द्वारा प्रबंधित किया जाता है। पर्यटन स्थलों पर कोविड गाइड लाइन का पूरा पालन किया जाएगा।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*