Naseeruddin shah,

नेपोटिज्म पर बहस नहीं होनी चाहिये : शाह

इनसाइडर और आउटसाइडर की बहस समझ से परे

मुंबई। बॉलीवुड के जाने-माने अभिनेता नसीरुद्दीन शाह (Naseeruddin shah) का कहना है नेपोटिज्म (भाई-भतीजावाद) पर बहस नहीं होनी चाहिये। नसीरुद्दीन शाह (Naseeruddin shah) ने कहा, ”मैं इनसाइडर और आउटसाइडर्स पर चल रही बहस को समझ नहीं पा रहा हूं।

सब बकवास है

मेरी नजर में यह सब बकवास है। एक अभिनेता होने के नाते मैं अपने बेटे को खुशहाल जीवन यापन करने के लिए उसी पेशे में जाने के लिए प्रोत्साहित क्यों नहीं करूंगा। क्या कोई उद्योपति और डॉक्टर ऐसा नहीं करता है। हमने देखा है कि कई पीढियों ये चला आ रहा भाई-भतीजावाद आपको शुरुआत में काम दिला सकता है, लेकिन बाद में अपने काम के दम पर अपना मुकाम बनाना पड़ता है।

नसीर (Naseeruddin shah) ने कहा, ”यह कहां का न्याय है कि मेरे बेटों को बॉलीवुड में मौका नहीं मिले क्योंकि वे मेरे बेटे हैं और लोग उन्हें जानते हैं। उनका लोगों के साथ संपर्क हैं। अगर आप उन्हें पसंद कर रहे हैं तो यह कहें कि उन्हें इसलिए काम मिला क्योंकि वे मेरे बेटे हैं तो यह सच्चाई नहीं है। स्टार्स के बच्चों को अपनी एक्टिग के दम पर भी काम मिल सकता है।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*