Modi interacts with sarpanches

कोरोना संकट के बीच पंचायती राज दिवस पर संरपंचों से रू-ब-रू हुए मोदी

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी Prime Minister Narendra Modi ने पंचायती राज दिवस के मौके पर विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सरपंचों से चर्चा की। तकरीबन डेढ़ घंटे वे अलग-अलग ग्राम पंचायतों के सरपंचों से चर्चा कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कोरोना वायरस महामारी को लेकर कहा कि इस महामारी ने यह सबक भी दिया है कि देश को अब आत्मनिर्भर बनना ही पड़ेगा।

इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना ने हमारे काम करने के तरीके को बदला है लिहाजा यह कार्यक्रम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया जा रहा है। कोरोना संकट के इस दौर में हमारे संकल्प की प्रासंगिकता बढ़ गई है। बड़ी बात ये है कि अब हमें आत्मनिर्भर बनना ही पड़ेगा। इसके बिना ऐसे संकट को झेलना मुश्किल हो जाएगा।

उन्होंने कहा पंचायत, जिले और राज्य आत्मनिर्भर बनें, ताकि अपनी जरूरतों के लिए कभी बाहरियों का मुंह न देखना पड़े। मोदी ने कहा- मजबूत पंचायतें आत्मनिर्भर बनने की नींव हैं। सरकार ने पंचायती राज की व्यवस्थाओं को आधुनिक बनाने के लिए लगातार काम किया है। 1.25 लाख से ज्यादा पंचायतों तक ब्रॉडबैंड कनेक्शन पहुंच गया है। 3 लाख कॉमन सर्विस सेंटर काम कर रहे हैं। आज इतने बड़े पैमाने पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हो रही है। इसमें इन बातों का बड़ा योगदान है। शहर और गांव की दूरी कम करने के लिए सरकार ने दो प्रोजेक्ट शुरू किए हैं- ई-ग्राम स्वराज और हर ग्रामवासी के लिए स्वामित्व योजना।

रायपुर पुलिस ने अर्णव को भेजा नोटिस, 5 मई को सुबह 11 बजे थाने में बुलाया

ई-ग्राम स्वराज ऐप पर क्या कहा

मोदी ने ई-ग्राम स्वराज ऐप पंचायतों को लेखाजोखा रखने वाला सिंगल डिजिटल प्लेटफार्म बताते हुए कहा कि पंचायत के विकास कार्यों, उसके फंड और कामकाज की जानकारियां हर व्यक्ति को मिलेगी। इससे ट्रांसपरेंसी बढ़ेगी। स्वामित्व योजना के तहत गांवों में ड्रोन से एक-एक संपत्ति की मैपिंग की जाएगी। इससे लोगों के बीच झगड़े खत्म हो जाएंगे, विकास कार्यों को गति मिलेगी और शहरों की तरह इन संपत्तियों पर बैंक से लोन लिया जा सकेगा। अभी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश समेत 6 राज्यों में इस योजना को ट्रायल के तौर पर शुरू कर रहे हैं। फिर इसे देश के हर गांव में लागू किया जाएगा।

सरपंचों ने भी रखी अपनी बात

बारामूला में नारबाओ ब्लाक के चेयरमैन मोहम्मद इकबाल, बिहार के जहानाबाद जिले के धरनाई के सरपंच अजय सिंह यादव, उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले में नक्सीदेह पंचायत के सरपंच, पंजाब के पठानकोट पठानकोट की हाडा पंचायत की सरपंच पल्लवी ठाकुर और असम के कचर जिले में छोटा दूधपाटिल गांव के प्रधान रंजीत कुमार ने इस दौरान प्रधानंत्री के सामने अपनी-अपनी बात रखी।

CM Baghel Wrote A Letter: सीएम भूपेश बघेल ने केंद्र सरकार से मांगे 30 हजार करोड़

मुख्यमंत्रियों के साथ 27 अप्रैल को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग

लॉकडाउन का दूसरा फेज दो 3 मई को खत्म हो रहा है। लिहाजा इससे 6 दिन पहले यानी 27 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी सभी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे। इससे पहले भी प्रधानमंत्री मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना संकट और लॉकडाउन की गाइडलाइन पर चर्चा कर चुके हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*