Bihar Hooch Tragedy: जहरीली शराब से हुई मौतों पर मंत्री के बिगड़े बोल, कहा- कानून है फिर भी होते हैं मर्डर

Bihar Chapra hooch tragedy: बिहार (Bihar) में जहरीली शराब (Poisonus Liquor) से हो रही मौतों का सिलसिला थमा नहीं है. विपक्ष सरकार से सवाल कर रहा है तो सत्ता पक्ष सफाई देने के साथ विपक्ष पर भी निशाना साध रहा है. इसी आरोप-प्रत्यारोप के बीच छपरा में हुई मौतों को लेकर बिहार के आबकारी मंत्री सुनील कुमार ने अजीबोगरीब बयान दिया है.

देश में मौजूद हैं कड़े कानून फिर भी…

आपको बताते चलें कि इस मामले पर सरकार बुरी तरह से घिर रही है. जिसके बाद मंत्री सुनील कुमार ने सफाई दी और साथ ही साथ विपक्ष के सवालों का जवाब भी दिया है. उन्होंने कहा, ‘अन्य राज्यों में भी जहरीली शराब से मौते होती हैं. देश में काफी सख्त कानून हैं. इसके बावजूद अभी तक हत्याएं और चोरी हो रही हैं.’ हालांकि मंत्री सुनील कुमार ने दोहराया कि बिहार में शराबबंदी नाकाम नहीं है. इसी बयान पर विपक्ष उन्हें घेर रहा है.

अंतिम संस्कार का दबाव बना रही पुलिस

छपरा (Chapra) में जहरीली शराब से अबतक 36 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि प्रशासन ने 21 लोगों की मौत की पुष्टी अबतक की है. जबकि स्थानीय लोगों का दावा है कि 50 से अधिक लोगों की मौत हुई है. स्थानीय लोगों ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि मृतकों की बिना कोई जांच पड़ताल किए हुए शवों के अंतिम संस्कार करने के लिए पुलिस लगातार दबाव बना रही है.

जिम्मेदार लोगों पर गिरी गाज

शराबबंदी के बावजूद शराब से हुई मौत के बाद डीएम ने की बड़ी कार्यवाही की है. इस बीच कुछ लोगों को सस्पेंड तो कुछ लोगों के तबादले की खबर आई है. छपरा और आस-पास के इलाकों से लगातार अवैध शराब जब्त करके सैंपल लेने के बाद नष्ट की जा रही है.

नाकाम हुए नीतीश: बीजेपी
भारतीय जनता पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री नितिन नवीन ने छपरा में जहरीली शराब से हुई मौतों पर बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि जिस तरीके से मृतकों की संख्या बढ़ रही है वह दुर्भाग्यपूर्ण है. नितिन नवीन ने कहा, ‘इन मौतों के लिए खुद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिम्मेदार हैं. हम लोगों ने शराब बंदी कानून की समीक्षा करने की बात हमेशा कही. लेकिन वह हैं कि मानते नहीं. जब हम लोग सरकार में थे तब हमने भी यही बात कही थी. शराबबंदी कानून को उनके पुलिसकर्मी और अफसर ही सफल नहीं होने दे रहे हैं. गृह मंत्री के तौर पर जिम्मेदारी नीतीश कुमार की है ऐसे में अगर उनकी बात डीएम और एसपी नहीं मान रहे तो साफ है कि वो विफल हो गए हैं.’

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*