किए जा रहे कार्यों का जायजा लिया। यहां 500 बिस्तर वाला एक केंद्र बनाया जा रहा है।

CG govt अंबेडकर में बन रहा कोरोना वार्ड देखने पहुंंचे मंत्री टीएस सिंहदेव

रायपुर . छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव शनिवार शाम ambedkar hospita पहुंचे। यहां उन्होंने कोरोना से इलाज के लिए किए जा रहे कार्यों का जायजा लिया। यहां 500 बिस्तर वाला एक केंद्र बनाया जा रहा है।

निरीक्षण के दौरान उन्होंने छोटे बच्चों की गहन चिकित्सा इकाई, नियोनेटल केयर यूनिट की व्यवस्थाओं को भी परखा। उन्होंने ambedkar hospital स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग का जायजा लिया। कोरोना आईसीयू वार्ड एवं आईसोलेशन के निरीक्षण के दौरान अस्पताल में भर्ती मरीजों से भी मिले।

प्रधानमंत्री फसल बीमा के तहत, खरीफ वर्ष 2019 में प्रदेश के किसानों को राहत भूपेश सरकार ने दी है। किसानों के खाते में फसल बीमा का 533 करोड़ 9 लाख रूपए जमा किया जा चुका है। इसके अतिरिक्त दावा की राशि लगभग 101 करोड़ रूपए किसानों को भुगतान करने की कार्यवाही की जा रही है।

यह भी पढ़े: Lockdown In CG: छत्तीसगढ़ में मास्क बिना घर से निकले तो जाना पड़ेगा जेल

इधर, भूपेश सरकार ने किसानों को दी सौगत

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत खरीफ वर्ष 2019 में 15 लाख 52 हजार किसानों का कुल 8,142.18 करोड़ रूपए का बीमा किया गया है। जिसके लिए 1139.75 करोड़ रूपए प्रीमियम राशि का भुगतान बीमा कम्पनी (Lockdown In CG) को किया गया है। जिसमें किसानों का अंशदान 162.84 करोड़ भी शामिल है।

उद्यानिकी फसल का कराया था बीमा

राज्य में मौसम आधारित फसल बीमा योजना के तहत, खरीफ वर्ष 2019 में 11 हजार 475 किसानों द्वारा उद्यानिकी फसल का बीमा कराया गया था। जिसमें से 7 हजार 668 किसानों को 12 करोड़ 38 लाख रूपए का दावा भुगतान किया जा चुका है। 2 हजार 593 किसानों को भुगतान की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है।

यह भी पढ़े: Party in lockdown: भाजपा पार्षद को जन्म दिन की पार्टी पड़ी महंग, साथियों सहित गिरफ्तार

बीज निगम कर रहा भुगतान

राज्य शासन के बीज निगम द्वारा बीज उत्पादक किसानों को 5 करोड़ रूपए का भुगतान किया जा रहा है। शेष राशि 20 करोड़ रूपए की भुगतान की कार्यवाही (Lockdown In CG) जारी है। राज्य में सुराजी गांव के बाड़ी विकास कार्यक्रम के तहत, 2019-20 में मनरेगा के तहत 9 हजार 997 बाड़ी स्वीकृत किया गया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*