Minister Dr. Premasai Singh Tekam,

मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम ने मोहल्ला कक्षाओं का किया औचक निरीक्षण

विधायक सत्यनारायण शर्मा भी रहे मौजूद

रायपुर। कोरोना संक्रमण काल के दौरान छात्रों को शिक्षित करने के लिए राज्य सरकार मोहल्ला कक्षाओं का संचालन कर रही है। मोहल्ला कक्षाओं में छात्रों को उत्कृष्ठ शिक्षा मिल रही है या नहीं?

इस बात की जानकारी लेने के लिए बुधवार को रायपुर जिले में स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम (Minister Dr. Premasai Singh Tekam) और वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा ने कचना, फुंडहर, पुरैना तालाब, कबीर नगर और लाखेनगर में संचालित मोहल्ला कक्षाओं का अवलोकन किया। अवलोकन के दौरान मंत्री और विधायक ने शिक्षकों के काम की सराहना की। छात्रों को उत्कृष्ठ शिक्षा मिले, यह भी निर्देश स्कूल शिक्षा मंत्री ने जारी किया है।

अध्यापन में आया निखार

औचक निरीक्षण के दौरान स्कूल शिक्षा मंत्री (Minister Dr. Premasai Singh Tekam) ने कहा कि, लॉकडाउन अवधि में स्कूलों की नियमित पढ़ाई बंद होने के कारण, कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए पालकों की सहमति से स्कूलों से बाहर गांव और मोहल्लों में ऑफलाइन कक्षाओं का संचालन किया जा रहा हैं।

इन कक्षाओं में वे बच्चे सम्मिलित होते है, जिनके पास मोबाईल फोन या इंटरनेट सुविधा नहीं हैं। शिक्षा विभाग की अभिनव पहल पढ़ई तुंहर दुआर से विद्यार्थियों को शिक्षा से जोड़े रखने एवं उन्हें गतिविधियों के माध्यम सीखने-सिखाने का अवसर सुलभ हुआ है। नए-नए नवाचार के माध्यम से शिक्षकों के अध्यापन कौशल में निखार आया है, वहीं बच्चों में पारंपरिक रटंत विद्या के स्थान पर स्वयं गतिविधियों के माध्यम से विषय की समझ विकसित हो रही है।

16 हजार116 बच्चों को दी जा रही

शिक्षामंत्री (Minister Dr. Premasai Singh Tekam) के औचक निरीक्षण में जिला शिक्षा अधिकारी जी.आर. चन्द्राकर, जिला मिशन समन्वयक एवं नोडल अधिकारी के.एस. पटले ने बताया, कि वर्तमान में जिले के 317 गांवों और मोहल्लों में 837 शिक्षकों द्वारा 16 हजार 116 बच्चों को कंटेनमेंट क्षेत्र के बाहर “पढ़ई तुंहर पारा“ अन्तर्गत ऑफलाईन शिक्षा दी जा रही हैं।

वहीं “लॉउडस्पीकर“ से 172 गांव और मोहल्लों में 50 शिक्षकों द्वारा 1559 बच्चों को पढ़ाया जा रहा हैं। ब्लूटूथ (बूल्टू के बोल) के माध्यम से रायपुर जिला के 84 हॉटबाजार में 353 शिक्षकों द्वारा 4337 लोगो को आडियो लेशन प्रेषित किया गया हैं। “ऑनलाईन कक्षाओं“ के माध्यम से 07 अप्रैल से अब तक 1419 स्कूलों के 8028 शिक्षकों द्वारा एक लाख 27 हजार 587 कक्षाएं लगाई गई। जिसके जरिए 5 लाख 47 हजार 49 विद्यार्थियों को विभिन्न विषयों का अध्ययन-अध्यापन कराने के साथ ही उनके प्रश्नों एवं शंकाओं का समाधान किया गया। उन्होंने बताया कि पढ़ई तुंहर दुआर के माध्यम से रायपुर जिले में प्रतिदिन 1096 कक्षाएं संचालित की जा रही है। जिसमें 46,957 विद्यार्थी ऑनलाईन शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। 

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*