Madhya Pradesh ready to deal with corona virus

नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये सतर्क है मध्यप्रदेश

ग्राम पंचायत स्तर तक संक्रमण से निपटने की है पुख्ता तैयारी

नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये प्रदेशभर में प्रशासनिक एवं सामाजिक स्तर पर जरूरी कदम उठाये जा रहे हैं। जनसामान्य को कोरोना से बचाव के लिये आवश्यक रूप से घर पर ही रहने की सलाह दी जा रही है।

ग्वालियर : क्षेत्रीय सांसद ने आज नोवल कोरोना वायरस से निपटने के लिये प्रशासनिक स्तर पर की गई तैयारियों का निरीक्षण किया। उन्होंने कंट्रोल रूम पहुँचकर प्राप्त होने वाली सूचनाओं पर की जा रही कार्यवाही के संबंध में जानकारी ली। साथ ही जन-सामान्य से प्रधानमंत्री की 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक जनता कर्फ्यू के पालन करने का आग्रह किया। जिले में कोरोना वायरस से निपटने के लिये प्रायवेट नर्सिंग होम्स की मदद भी ली जा रही है। बिरला हास्पिटल, मेडिकल कॉलेज जिला अस्पताल मुरार, मिलेट्री हास्पिटल मुरार में आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। इसके साथ ही, क्वारेंटाइन के 16 सेंटर भी बनाये गये हैं।

नरसिंहपुर : जबलपुर में कोरोना के 4 प्रकरण पॉजिटिव मिलने पर नरसिंहपुर जिले में कलेक्टर ने प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किये हैं। जिले में 21 मार्च की मध्य रात्रि से आगामी 14 दिनों के लिये तत्काल प्रभाव से टोटल लॉक डाउन किया गया है। लॉक डाउन की स्थिति में किसी भी व्यक्ति को अपने घर से निकलने की इजाजत नहीं होगी। जिले की समस्त सीमाओं को सील किया गया है।

रायसेन जिले में प्रशासन ने नागरिकों से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का पालन करने का आग्रह किया है। सभी तरह के धार्मिक आयोजनों को स्थगित कर दिया गया है। जिले में एहतियात के तौर पर मास्क और सेनेटाइजर्स की आवश्यक आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है।

छतरपुर : जिले में नोवल कोरोना वायरस (COVID-19) को रोकने के लिये विकासखण्ड स्तर पर टास्क फोर्स कमेटी गठित की गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी विकासखण्डों में 4 सदस्यीय आरआरटी टीम का गठन किया गया है। प्रत्येक टीम में बीएमओ को नोडल अधिकारी बनाया गया है। इसके अलावा, स्टॉफ नर्स फार्मेसिस्ट और वार्ड बॉय की डयूटी निर्धारित की गई है। कलेक्टर ने कहा है कि आपात स्थिति में निजी अस्पतालों की मदद ली जायेगी। निजी अस्पताल को 10 से 15 बेड की क्षमता वाले एक वार्ड को आइसोलेशन वार्ड के रूप में आरक्षित करना होगा।

छिन्दवाड़ा जिले में प्रवेश करने वाले यात्रियों की जाँच के लिये छिन्दवाड़ा-नागपुर सीमा सतनूर पर चैकपोस्ट बनाया गया है। आज महाराष्ट्र की ओर से आने वाले यात्रियों की नॉन टच थर्मामीटर मशीन से जाँच की गई। जिले में मास्क और हैण्ड सेनेटाइजर की पर्याप्त उपलब्धता के लिये प्रशासनिक अधिकारियों ने मेडिकल एसोसिएशन के पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये हैं।

दतिया : जिले में नागरिकों से अपील की गई है कि वे स्वयं के द्वारा सेनेटाइजर बनाकर उपयोग करें। अपील में कहा गया सेनेटाइजर के लिये एक लीटर डिस्टल वॉटर, 850 मिली इथाहल एल्कोहल, 50 मिली हाइड्रोजन परऑक्साइड, 20 मिली गिलिसरोल का मिश्रण कर उपयोग किया जा सकता है।

धार जिले में मास्क एवं सेनेटाइजर की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिये कलेक्टर द्वारा आदेश जारी किये गये हैं। प्रत्येक व्यापारी को सेनेटाइजर के उपलब्ध स्टॉक एवं उसकी निर्धारित कीमत का प्रदर्शन करना होगा।

नीमच : जिले में क्वारेंटाइन के लिये 8 कमरे तैयार किये गये हैं। इनमें कोरोना के संदिग्ध और निगेटिव मरीजों को रखा जा सकेगा। जन-जागरूकता के लिये मास्टर ट्रेनरों को प्रशिक्षित किया जा चुका है। ये मास्टर ट्रेनर जन-सामान्य को नोवल कोरोना की रोकथाम एवं इसके लक्षण के बारे में जागरूक कर रहे हैं।

सागर जिले में कलेक्टर ने मास्क और सेनेटाइजर्स की आवश्यक उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। तीन स्थानों पर बड़ी मात्रा में मास्क और सेनेटाइजर तैयार किया जा रहे हैं। इस कार्य में 55 कैदियों को शामिल किया गया है। कंट्रोल रूम 24 घण्टे काम कर रहा है।

सीधी : जिले में नोवल कोरोना वायरस की रोकथाम के लिये सभी सरकारी कार्यालयों में तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का अल्टरनेट दिवसों में कार्य करने के लिये रोस्टर तैयार किया गया है। स्वास्थ्य, पुलिस, पेयजल व्यवस्था, विद्युत आपूर्ति, साफ-सफाई से जुड़े अमले की सेवाएँ निरंतर उपलब्ध रखने की व्यवस्था सुनिश्चित की गई हैं। जिले में प्रायवेट नर्सिंग होम संचालकों एवं मेडिकल स्टोर्स संचालकों की बैठक कर स्वास्थ्य सेवाओं में उनका सहयोग लेने की योजना तैयार की गई है। जिले में मास्क और सेनेटाइजर्स की आवश्यक उपलब्धता सुनिश्चित की गई है।

इंदौर : जिले में लोक परिवहन में भीड़ नियंत्रण के लिये कमिश्नर ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये हैं। तय किया गया है कि 22 मार्च को सिटी बस और आई बस का परिचालन पूर्णत: बंद रखा जायेगा। सिटी बस में एक सीट पर एक ही सवारी बैठे, इसके भी इंतजाम किये जायेंगे। जिले में कोरोना वायरस के मद्देनजर शासकीय कर्मचारियों का रोस्टर भी बनाया गया है। रोस्टर के अनुसार उपस्थिति सुनिश्चित की जायेगी। शहर के एमआरटीबी अस्पताल में हेल्प डेस्क बनाया गया है। कोरोना के संबंध में जन-सामान्य के लिये हेल्प लाइन नंबर 0731-2537253 जारी किया गया है। अस्पताल में कोरोना की जाँच के संबंध में सभी आवश्यक इंतजाम भी किये गये हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*