Lockdown In CG,

Lockdown In MP: लॉकडाउन में मध्य प्रदेश के इन जिलों को नहीं मिलेगी राहत, वजह है यह…

सीएम शिवराज सिंह ने जारी किया निर्देश

भोपाल. कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या मध्य प्रदेश में लगातार बढ़ रही है। मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने कोरोना के हॉट स्पॉट जिलों में लॉकडाउन पर (Lockdown In MP) सख्ती करने का निर्देश दिया है। सीएम शिवराज ने प्रदेश के इंदौर, भोपाल, उज्जैन,  खरगोन सहित सभी संक्रमण प्रभावित जिलों में आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अन्य दफ्तर नहीं खोलने का फरमान दिया है।

यह भी पढ़े: Corona Postive In President’s House: राष्ट्रपति भवन का सफाईकर्मी निकला कोरोना पॅाजीटिव

आवश्यक सेवाओं के अलावा अन्य आर्थिक गतिविधियाँ, इन जिलों में संचालित नहीं की जाएंगी। कोरोना संक्रमण मुक्त जिलों में भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग एवं लॉक डाउन के नियमों का पूरी तरह पालन करते हुए चयनित आर्थिक गतिविधियाँ संचालित की जाएंगी।

यह भी पढ़े: इनको मिला शिवराज कैबिनेट में मंत्री पद, शपथ के बाद सबसे पहले कोरोना पर बैठक

सीएम शिवराज सिंह ने सोमवार को वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक करके, यह निर्देश जारी किया। बैठक में मध्य प्रदेश (Lockdown In MP) के प्रमुख सचिव  इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशकविवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव संजय शुक्ला बैठक में  उपस्थित थे।

इन क्षेत्रों में कफ्र्यू के नियम होंगे लागू

सीएम शिवराज ने निर्देश दिए कि मध्य प्रदेश (Lockdown In MP) के सभी कलेक्टर अपनी क्षमता से अपने जिलों में संक्रमण रोकें। धार जिले के मनावर, कुक्षी, पीथमपुर एवं धार में कोरोना मरीज मिले हैं। इन क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दें और उसका सख्ती से पालन कराएं। संक्रमण किसी भी हालत में नहीं फैलना चाहिए। क्वॉरेंटाइन सेंटर्स में भोजन की अच्छी व्यवस्था करें।

यह भी पढ़े: मई में आएंगी दो और किश्तें, ब्याज के साथ मिलेंगे खातों में हजार रुपए

कोरोनावीर बरते विशेष सावधानी

सीएम ने निर्देश दिए कि स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस कर्मी आदि कोरोना मरीजों के सीधे संपर्क में आते हैं। उनकी सुरक्षा में विशेष सावधानी बरती जाए। सभी सुरक्षात्मक सामग्री उपलब्ध कराई जाए। इन्हें पूरी सावधानी से कार्य करने के लिए सलाह दें।  सीएम ने कहा कि हमारे कोरोना वीर किसी भी हालत में संक्रमित नहीं होने चाहिएं।

11 लैब में 2000 टेस्ट प्रतिदिन

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि, प्रदेश की 11 लैब में 2000 कोरोना टेस्ट प्रतिदिन हो रहे हैं। रीवा में टेस्टिंग लैब चालू हो गई है  आर.डी. गार्डी मेडिकल कॉलेज, उज्जैन में कोरोना टेस्टिंग लैब चालू हो जाएगी। शीघ्र ही प्रदेश में 2 और टेस्टिंग लैब चालू हो जाएंगी। अगले सप्ताह तक प्रदेश की टेस्टिंग क्षमता 2500 टेस्ट प्रतिदिन हो जाएगी। इसके अलावा, प्रदेश से 1197 सैम्पल टेस्टिंग के लिए दिल्ली लैब में भिजवाए गए हैं। 

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*