Lalji Tandon,

राज्यपाल लालजी टंडन का निधन, बेटे आशुतोष ने ट्वीट करके दी जानकारी

लखनऊ के निजी अस्पताल में ली अंतिम सांस

भोपाल. भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता और मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन (Lalji Tandon) का मंगलवार की सुबह निधन हो गया। उन्होंने 85 वर्ष की उम्र में लखनऊ के निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली। लालजी टंडन के बेटे और उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन ने ट्वीट करके अपने पिता की मृत्यू की जानकार दी।

राज्यपाल लालजी टंडन (Lalji Tandon) को 11 जून को स्वास्थ्य संबंधी समस्या होने पर लखनऊ के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पिछले दो दिनों से वे वेंटीलेटर पर थे और उनके पेट पर रक्त स्त्राव हो रहा था। उनकी अनुपस्थिती में उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को मध्य प्रदेश के राज्यपाल का अतिरिक्त दायित्व सौंप दिया गया था।

पीएम ने किया ट्वीट

लालजी टंडन के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया है। ट्वीट में पीएम ने लिखा है, कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी को मजबूत करने के लिए उन्होंने महत्तवपूर्ण भूमिका निभाई थी।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करके निधन पर शोक जताया है। बहुजन समाजवादी पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने लालजी टंडन के निधन पर परिवार के लिए संवेदना व्यक्त की है।  

भाजपा के दिग्गज नेता थे टंडन

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में जन्मे लालजी टंडन (Lalji Tandon) भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता थे। दो बार वे उत्तर प्रदेश में विधान सभा परिषद के सदस्य रहे। 1996 से 2009 के बीच तीन बार उत्तर प्रदेश से ही विधान सभा के सदस्य निर्वाचित हुए। वे उत्तर प्रदेश में कल्याण सिंह सरकार के समय मंत्री भी रहे। 2003 से 2007 तक उत्तर प्रदेश में विधानसभा नेता विपक्ष भी रहे। 2009 में वे लखनऊ से लोकसभा सदस्य निर्वाचित हुए। इस सीट से 4 बार सांसद भी रहे। 2018 में लालजी टंडन को बिहार का राज्यपाल बनाया गया था। बिहार के बाद मध्य प्रदेश का राज्यपाल पद की जिम्मेदारी वे निभा रहे थे।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*