Laborers of chhattisgarh

लॉकडाउन की वजह से छत्तीसगढ़ के 99 हजार 236 मजदूर फंसे दूसरे राज्यों में

मजूदरों ने वीडियो जारी करके राज्य सरकार से मांगी मदद

रायपुर. छत्तीसगढ़ से दूसरे राज्यों में जाकर जीविका कमाने वाले 99 हजार 236 मजदूर (Laborers of chhattisgarh) दूसरे राज्यों में फंस गए है। मजदूरों के फंसने का कारण लॉकडाउन है।

यह भी पढ़े: दुनियाभर में एक अरब लोग हो सकते हैं कोरोना संक्रमित: आईआरसी

दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों ने वीडियो जारी करके राज्य सरकार से प्रदेश लौटने की मांग की है। मजदूरों को प्रदेश वापस लाने के लिए भूपेश सरकार योजना बना रही है। विभागीय अधिकारियों की मानें तो मई माह तक मजदूरों को वापस लाया जा सकेगा।

इन राज्यों में फंसे है मजदूर

शासकीय अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार अब तक हिमाचल, दिल्ली, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, तेलंगाना, जम्मू-कश्मीर, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक और तमिलनाडु में मजदूरों (Laborers of chhattisgarh) के फसे होने की जानकारी मिली है। मजदूरों को वापस लाने के लिए योजना तैयार की जा हरी है।

इन जिलों के इतने मजदूर फंसे

  • जांजगीर-चांपा 25 हजार 340
  •  बलौदा बाजार 20 हजार 444
  • मुंगेली 8 हजार 623
  • कबीर धाम 7 हजार 668
  • बिलासपुर 7 हजार 366
  • बेमेतरा 6 हजार 215
  • कोंडागांव 6 हजार 182
  • राजनांदगांव 5 हजार 365
  • रायगढ़ 2 हजार 254
  • बीजापुर 2 हजार
  • रायपुर 1 हजार 557
  • दुर्ग 1 हजार 187
  • जशपुर 1 हजार 10
  • गरियाबंद 723
  • बालोद 642
  • महासमुंद 626
  • बलरामपुर 546
तीन चरणों में मजदूर आएंगे वापस

श्रम सचिव सोनमणि बोरा ने बताया कि मजदूरों (Laborers of chhattisgarh)को तीन चरण में प्रदेश वापस लाया जाएगा। इन मजदूरों को प्रदेश में लाने के बाद पहले क्वारंटाइन किया जाए और उसके बाद उन्हें घर भेजा जाएगा। राज्य सरकार ने मजदूरों की मदद के लिए हेल्प लाइन नंबर 9109849992, 0771-2443809, 7587822800 जारी किया है।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*