Jungle safari, Naya Raipur, Tourist, Snake park,

Jangal Safari में पर्यटकों के लिए बनेगा Snake Park

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर स्थित जंगल सफारी(Jangal Safari) में आने वाले दिनों में सांपों की प्रजाति पर्यटक देख सकेंगे। सफारी प्रबंधन ने सर्प उद्यान (Snake Park ) निर्माण करने का निर्णय लिया है। जंगल सफारी की डिप्टी डायरेक्टर एम. मर्सीबेला ने बताया कि केंद्रीय चिडि़याघर प्राधिकरण से सर्प उद्यान के लिए अनुमति मिल चुकी है। आगामी बजट सत्र में इसका काम शुरू कर दिया जाएगा। सफारी परिसर के 3 एकड़ क्षेत्र में सर्प उद्यान बनाया जाएगा।

एशिया का सबसे बडा सफारी

एशिया का सबसे बडा मानवनिर्मित जंगल सफारी (Jangal Safari) प्रदेश की राजधानी के अटल नगर इलाके में स्थित है। सफारी 800 एकड़ क्षेत्रफल में फैला हुआ है। सफारी में पर्यटक शेर, बाघ, भालू, हिरन, टाइगर, सांभर और कोट्री को खुलेआम विचरण करते हुए देख सकते है। सफारी में रोजाना 300 पर्यटक वन्य प्राणियों को देखने के लिए पहुंचते है। पर्यटको ने सफारी प्रबंधन से कई बार सर्प गार्डन बनाने की मांग की थी। पर्यटकों की मांग को देखते हुए सफारी प्रबंधन ने सर्प उद्यान (Jangal Safari) बनाने का निर्णय लिया है।

12 प्रजाति के सांप दिखेंगे पर्यटकों को

सफारी प्रबंधन के अनुसार सर्प उद्यान (Jangal Safari) में राय पायथन, धामण, रकेटीकुलेट पायथन, भारतीय नाग, कामन सेंडबोआ, रसेल वाइपर और अजगर समेत 12 प्रजाति सांप रखे जाएंगे। यह राज्य का पहला सर्प उद्यान होगा। सांपों की प्रजाति आसानी से आ सके इसलिए दूसरे राज्यों के चिडि़याघरों और अभ्यारण्यों से आदान प्रदान प्रक्रिया के तहत वन्य प्राणियों का बदलाव होगा।

वर्तमान में इतने जीव कर रहे विचरण

बंगाल टाइगर, शेर, भालू, चीतल, काला हिरण, नीलगाय, कोट्री, सांभर, मगरमच्छ और दरियाईघोड़ा को पर्यटक देखते सकते है। सफारी वन्य प्राणियों को कम समय में पैदल चलकर देख सके इसलिए जंगल सफारी (Jangal Safari) परिसर के अंदर ही प्रबंधन नंदनवन मिनी जू को भी शिफ्ट कर दिया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*