Jhiram Shradhanjali Diwas,

25 मई को छत्तीसगढ़ में अब हर साल मनाया जाएगा झीरम श्रद्धांजलि दिवस

सीएम भूपेश बघेल ने अधिकारियों को जारी किया निर्देश

रायपुर. छत्तीसगढ़ में अब हर वर्ष 25 मई को ‘झीरम श्रद्धांजलि दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा। सीएम भूपेश बघेल ने इस संबंध में शनिवार को  अधिकारियों को निर्देश जारी किए हैं, कि 25 मई 2013 को झीरम घाटी में नक्सल हिंसा के शिकार हुए प्रदेश के वरिष्ठ नेताओं, सुरक्षा बलों के जवानों और विगत वर्षो में नक्सल हिंसा के शिकार हुए थे। इन सभी लोगों की स्मृति में 25 मई को प्रतिवर्ष झीरम श्रद्धांजलि दिवस (Jhiram Shradhanjali Diwas) के रूप में मनाया जाए।

2 मिनट का रखा जाएगा मौन

प्रदेश के सभी शासकीय एवं अर्ध शासकीय कार्यालयों में 25 मई को शहीदों की स्मृति में दो मिनट का मौन धारण कर श्रद्धांजलि दी जाएगी। श्रद्धांजलि (Jhiram Shradhanjali Diwas) देने के साथ यह शपथ ली जाए कि राज्य को पुनः शांति का टापू बनाने के लिए हम सब संकल्पित रहेंगे।

25 मई 2013 को हुआ था हमला

आपको बता दें कि 25 मई 2013 को नक्लियों ने बड़ा हमला किया था, जिसमें छत्तीसगढ़ कांग्रेस के तत्कालीन छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष, नंदकुमार पटेल, विद्याचरण शुक्ल, महेंद्र कर्मा सहित 28 लोगों की मौत हुई थी। जिसके बाद भूपेश सरकार ने इस साल से 25 मई को झीरम श्रद्धांजलि दिवस (Jhiram Shradhanjali Diwas) के रूप में मनाने का ऐलान किया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*