jaswant singh,

BJP के संस्थापक सदस्यों में शामिल रहे जसवंत सिंह का निधन

पीएम समेत दिग्गजों ने प्रकट की संवेदनाए

दिल्ली. पिछले 6 वर्षों से कोमा में जीवन और मृत्यू से संघर्ष कर रहे पूर्व कैबिनेट मंत्री मेजर जसवंत सिंह (Jaswant Singh) का रविवार को निधन हो गया। पूर्व कैबिनेट मंत्री 82 वर्ष के थे। दिल्‍ली के आर्मी अस्‍पताल की ओर से जारी बयान के अनुसार, ‘पूर्व कैबिनेट मंत्री मेजर जसवंत सिंह (रिटा) का कार्डिक अरेस्ट आने से रविवार सुबह 6.55 बजे निधन हो गया। पूर्व कैबिनेट मंत्री का कोविड स्‍टेटस निगेटिव है।

सेना से रिटायर होने के बाद खेली राजनीतिक पारी

भारतीय सेना में मेजर रहे जसवंत सिंह (Jaswant Singh) ने रिटायर होने के बाद राजनीति का दामन थाम लिया था। BJP की स्‍थापना करने वाले नेताओं में शामिल जसवंत ने राज्‍यसभा और लोकसभा, दोनों सदनों में BJP का प्रतिनिधित्‍व किया। अटल बिहारी सरकार में जसवंत सिंह ने रक्षा, विदेश और वित्त मंत्रालय जैसे मंत्रालयों का जिम्मा संभाला है। बतौर वित्‍त मंत्री जसवंत सिंह ने स्‍टेट वैल्‍यू ऐडेड टैक्‍स (VAT) की शुरुआत की जिससे राज्‍यों को ज्‍यादा राजस्‍व मिलना शुरू 2014 में बीजेपी ने सिंह को बाड़मेर से लोकसभा चुनाव का टिकट नहीं दिया था। नाराज जसवंत ने पार्टी छोड़कर निर्दलीय चुनाव लड़ा मगर हार गए थे। उसी साल उन्‍हें सिर में गंभीर चोटें आईं, तब से वह कोमा में थे।

पीएम ने किया परिवार को फोन

पूर्व कैबिनेट मंत्री जसवंत सिंह (Jaswant Singh) की मौत के बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने उनके बेटे मानवेंद्र को फोन करके अपनी संवेदनाएं प्रकट की है। मोदी ने एक ट्वीट में कहा, ‘जसवंत सिंह जी ने पहले एक सैनिक के रूप में देश की सेवा की, फिर राजनीति के साथ लंबे वक्‍त तक जुड़े रहकर अटल सरकार में महत्तवपूर्ण पदों को संभाला।उनके निधन से दुखी हूं। उन्‍हें राजनीति और समाज के विषयों पर अनूठे नजरिए के लिए याद किया जाएगा।  

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*