Chhattisgarh Private School Management Association,

प्रदेश का शैक्षणिक वातावरण दूषित करने वाले संघों की जांच हो: छग प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन

एसोसिएशन ने फर्जी संघ के खिलाफ जांच करने की मांग की

रायपुर। पालकों की आड़ में प्रबंधन को ब्लेकमेल करने वाले फर्जी पालक संघों के खिलाफ जांच करने की मांग छत्तीसगढ़ प्रायवेट स्कूल एसोसिएशन (Chhattisgarh Private School Association) के पदाधिकारियों ने की है। संघ के पदाधिकारियों ने कहा, कि पालकों की आड़ में कुछ लोग फर्जी संघ बनाकर स्कूल प्रबंधन को ब्लैकमेल कर रहे है। निजी स्कूल प्रबंधन को ब्लैकमेल करने के साथ ये फर्जी पालक संघ प्रदेश के शैक्षणिक वातावरण को दूषित कर रहे हैं।

एसोसिएशन ने बोला हल्ला

छत्तीसगढ़ स्कूल एसोसिएशन (Chhattisgarh Private School Association) ने कथित तरीके से पालक संघ चलाने वालों के खिलाफ हल्ला बोला है। संघ ने कहा, कि स्कूल फीस के दबाव का आरोप पूरी तरह से निराधार है। जो लोग पालक संघ बनाकर स्कूलों के बाहर विरोध कर रहे है, उनके बच्चे स्कूल में ही नहीं पढ़ते है। कोरोना महामारी के कारण आर्थिक परेशानियों से जूझ रहे पालको के लिए स्कूल के द्वार हमेशा खुले है। जो लोग पालकों के सामने स्कूलों को धमका रहे है, वे लोग निजी स्कूलों से आर्थिक लाभ लेने का मौका ताड़ रहे है।

डीईओ के नेतृत्व में बने पालक संघ

एसोसिएशन (Chhattisgarh Private School Association) के सचिव राजीव गुप्ता ने कहा, कि यदि किसी स्कूल के बाहर अमर्यादित व्यवहार किया गया, तो इस तरह का बर्ताव करने वालों के खिलाफ एफआईआर लिखाई जाएगी। संघ के पदाधिकारियों ने स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों और राज्य सरकार से जांच करने की मांग की है। एसोसिएशन ने जिला शिक्षा अधिकारी के नेतृत्व में पालक संघ बनाकर प्रबंधन के साथ बैठकर समस्या का समाधान निकालने की बात कही है।

निजी स्कूलों पर लगाए नियंत्रण

निजी स्कूलों की द्वारा पालकों से जबरिया मनमानी फीस वसूलने की शिकायत मिलने पर लोक शिक्षण संचालनालय के संचालक ने सोमवार को निर्देश जारी कर स्थिति को नियंत्रित करने का निर्देश जिला शिक्षा अधिकारियों को दिया है। संचालक द्वारा जारी आदेश के अनुसार हाईकोर्ट द्वारा निर्देशित किए गए आदेशों को प्रदेश में सख्ती से पालन हो। जो स्कूल प्रबंधन मनमानी कर रहे है, उनके खिलाफ जांच की जाए और समस्त निजी स्कूलों से निर्देश का पालन सख्ती से कराया जाए।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*