YASIN ALI ERANI,

पुलिसकर्मियों को धक्का देकर फरार होने वाला हिस्ट्रीशीटर यासीन अली गिरफ्तार

जहां करता था कारोबार वहीं से अफसरों ने निकाला जुलूस

रायपुर। पंडरी इलाके में अवैध कारोबार करके शहर का अपराध ग्राफ बढ़ाने वाले शातिर हिस्ट्रीशीटर यासीन अली ईरानी (YASIN ALI ERANI) को पुलिसकर्मियों ने सोमवार की रात पकड़ा है।

आरोपी का खौफ लोगों के अंदर से कम हो सके, इसलिए जिस इलाके में वो अवैध कारोबार करता था, वहां से कोर्ट तक पैदल जुलूस निकाला और न्यायालय में पेश किया। न्यायाधीश के निर्देश पर आरोपी को जेल दाखिल करवा दिया गया है। यासीन के उपर सट्टा, नशे का कारोबार, मारपीट, रंगदारी, चाकूबाजी के दर्जनों केस रायपुर के अलग-अलग थाना में दर्ज है। पुलिस आरोपियों के साथियों का पता लगा रही है।

पुलिस कस्टडी से हो चुका है फरार

सितंबर 2020 में आरोपी यासीन(YASIN ALI ERANI) की तलाश में रायपुर पुलिस के अधिकारियों ने ईरानी डेरा में दबिश दी थी। आरोपी को पकडऩे में पुलिस अधिकारी सफल भी हो गए थे और उसे घर से निकालकर पुलिस गाड़ी में बिठा दिया था।

आरोपी को पुलिसकर्मी ईरानी डेरा से लेकर निकल रहे थे, इस दौरान ईरानी डेरा की 40 से ज्यादा महिलाएं पुलिस से भिड़ गई। इस बात का फायदा उठाकर आरोपी यासीन ने पुलिसकर्मियों को धक्का दिया और गाड़ी से कूदकर फरार हो गया था। आरोपी के फरार होने के बाद पुलिस अधिकारियों ने 35 से ज्यादा महिलाओं पर कार्रवाई की थी।

चाकूबाजी से उठा था अपराध के क्षेत्र में नाम

यासीन (YASIN ALI ERANI) पिछले कई वर्षों से लगातार शहर में अपराधिक गतिविधियों को अंजाम दे रहा है। शहर में उसका नाम पंडरी इलाके में हुई चाकूबाजी के बाद फेमस हुआ। यासीन ने विवाद के बाद युवक पर चाकू से इतने हमले किए कि उसकी अतडि़या बाहर आई और मौके पर ही उसकी मौत हो गई। पुलिस ने कार्रवाई की, लेकिन बाहर आने के बाद वो सट्टा, नशे का कारोबार और रंगदारी करने लगा। राजनैतिक एप्रोच की वजह से कई बार पुलिस की गिरफ्त में जाने के बाद वो बच निकला।

सरेंडर का हल्ला

पुलिस यासीन को गिरफ्तार करने की बात कह रही है। लेकिन जानकारों की मानें तो सोमवार की रात को यासीन ने रसूखदारों के कहने पर सरेंडर किया है। सरेंडर की वजह से 1 जनवरी को विधानसभा इलाके में हुई घटना बताई जा रही है। जानकारों की मानें तो विधानसभा इलाके में यासीन और उसके कुछ साथी पार्टी कर रहे थे।

इस दौरान यासीन ने दुकान संचालक से पानी मंगाया। पानी देने के लिए दुकान में खड़ी किशोरी चली गई, तो वहां यासीन और उसके साथियों ने छेड़खानी कर दी। इस घटना की शिकायत विधानसभा पुलिस में पीडि़ता और उसके परिवार के सदस्यों ने की, तो पहले जिम्मेदारों ने घुमाया, लेकिन जनप्रतिनिधियों के पास मामला पहुंची पर शिकायत ले ली। नाबालिग से छेड़खानी का मामला तूल ना पकड़े, इसलिए केस दर्ज होने से पहले यासीन ने सरेंडर किया।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*