durg university

5 साल का हुआ हेमचंद विवि, स्थापना दिवस पर छात्र लिखेंगे ऑनलाइन निबंध

भिलाई . हेमचंद यादव विश्वविद्यालय ने अपनी foundation स्थापना के 5 साल पूरे कर लिए हैं। बीते कुछ साल से विवि प्रशासन द्वारा प्रत्यक्ष रूप से इसका समारोह करता आ रहा था, लेकिन इस बार कोरोना लॉकडाउन की वजह से विवि औपचारिक्ताएं पूरी नहीं करेगा। विवि प्रशासन ने तय किया है कि संबंध कॉलेजों के नियमित विद्यार्थियों को साथ लेकर 24 अप्रेल को निंबध प्रतियोगिता ऑनलाइन कराई जाएगी। विवि के डीएसडब्ल्यू डॉ. प्रशांत श्रीवास्तव ने बताया कि ऑनलाइन निबंध प्रतियोगिता का विषय ‘कोरोना महामारी की चुनौतियों से निपटने में उच्च शिक्षा का समग्र प्रयास’ रखा गया है।

ये भी पढ़े – लॉकडाउन में पालकों को स्कूल बुलाकर बांटी पुस्तकें, स्कूल पर एक लाख जुर्माना

हिंदी और अंग्रेजी दोनों में लिखेंगे

डॉ. श्रीवास्तव ने बताया कि विद्यार्थी अपनी निंबध अंग्रेजी और हिन्दी दोनों ही भाषा में लिख सकेंगे। उनको स्वलिखित एवं मौलिक निबंध अधिकतम एक हजार शब्दों में ए4 साइज के पेपर में लिखकर ईमेल के माध्यम से 27 अप्रैल को शाम 5 बजे तक भेजना होगा। इसके बाद प्राप्त निबंधों पर विचार नहीं किया जाएगा। foundation विवि की ओर से निंबध निर्णय कमेटी की ओर से परखने के बाद श्रेष्ठ 5 को पुरस्कृत किया जाएगा। पुरस्कार वितरण के लिए विवि अलग से एक कार्यक्रम लॉकडाउन खुलने के बाद आयोजित करेगा।

ऐसे शुरू हुआ था हेमचंद विवि

हेमचंद यादव विश्वविद्यालय की स्थापना 24 अप्रेल 2015 को हुई। इसी दिन विवि को राजपत्र में जगह मिली। विवि के प्रथम कुलपति डॉ. एनपी दीक्षित थे। दुर्ग गल्र्स कॉलेज पुराने भवन में विवि का संचालन शुरू कराया गया। विवि अभी भी वहीं से संचालित है, लेकिन जल्द ही इसका स्थाई भवन बन जाएगा और विवि पोटियाकला में शिफ्ट करेगा। अभी हेमचंद विवि की कुलपति डॉ. अरुणा पल्टा हैं। विवि ने लॉकडाउन के कहर को देखते हुए अपने विद्यार्थियों के लिए पढ़ाई करने की व्यवस्था को ऑनलाइन कर दिया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*