गुर्जर आरक्षण आंदोलन,

राजस्थान में गुर्जर आरक्षण आंदोलन फिर शुरू होगा 1 नवंबर से

जयपुर। अपनी विभिन्न मांगों को लेकर गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति ने शुक्रवार को 1 नवंबर से फिर आंदोलन (Gujjar Reservation Movement) करने की घोषणा की। गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने संवाददाताओं से बातचीत में समाज के लोगों से 1 नवंबर को पीलूपुरा (बयाना) पहुंचने को कहा।

गुर्जर नेता विजय बैंसला ने कहा, ‘एक तारीख से पीलूपुरा में आंदोलन का आगाज होगा क्योंकि सरकार पिछले दो साल से हमारी मांगें मान नहीं रही है। पिछले तीन महीने से तो हम रोज इनको कहते आ रहे हैं लेकिन इनके कान पर जूं नहीं रेंग रहीं तो हमारे पास और कोई विकल्प नहीं बचा है। गुर्जर नेता (Gujjar Reservation Movement) ने कहा कि राजस्थान सरकार गुर्जर आरक्षण को नौंवी अनुसूची में शामिल कराए, बैकलॉग भरे तथा प्रक्रियाधीन भर्ती में अति पिछड़ा वर्ग (एमबीसी) को 5 प्रतिशत आरक्षण का लाभ दे।

17 अक्तूबर को महापंचायत थी

आपको बता दे, कि समिति ने 17 अक्तूबर को बयाना में महापंचायत (Gujjar Reservation Movement) की थी और उनकी आरक्षण संबंधी मागों को मानने के लिए राज्य सरकार को 1 नवंबर तक का समय दिया था।

इसके बाद इस गुरुवार को मंत्रिमण्डलीय समिति की बैठक हुई जिसने गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति की तीन प्रमुख मांगों पर सकारात्मक फैसला किया। इस बीच गुर्जरों के प्रस्तावित आंदोलन को लेकर करौली, अलवर, दौसा, बूंदी, सवाई माधोपुर व भरतपुर आदि जिलों में प्रशासन चौकस हो गया है। आंदोलन को लेकर जयपुर में पुलिस प्रशासन की उच्चस्तरीय बैठक हुई। संबद्ध जिलों में उच्च अधिकारियों के साथ अतिरिक्त जाप्ता भेजा जा रहा है।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*