Chhath Puja,

गाइड लाइन जारी, अब सार्वजनिक जगहों पर छठ पूजा की इजाजत नहीं

झारखंड सरकार ने सार्वजनिक रूप से छठ मनाने की अनुमति नहीं दी

रांची। कोरोना संकट के चलते दिल्ली के बाद झारखंड में भी सार्वजनिक तौर पर छठ पूजा (Chhath Puja) मनाने की इजाजत नहीं दी गई है। संक्रमण के मद्देनजर झारखंड में सार्वजनिक तालाब, बांध, जलाशय और नदी पर छठ पूजा और अघ्र्य की अनुमति नहीं है।

झारखंड सरकार ने छठ पूजा के दौरान क्या करना है? और क्या नहीं करना है? इसे लेकर गाइडलाइन जारी की है। कोरोना के असर को देखते हुए झारखंड सरकार ने सार्वजनिक रूप से छठ मनाने की अनुमति नहीं दी है। लोगों से अपने घरों में ही छठ पूजा (Chhath Puja) मनाने की अपील की गई है।

1 लाख 6 हजार 64 संक्रमित

झारखंड में रविवार को कोरोना के 129 नए मामले सामने आए जबकि दो मरीजों की मौत हो गई। झारखंड में अब तक 1 लाख 6 हजार 64 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 1 लाख 2 हजार 188 मरीज ठीक हो चुके हैं। झारखंड में अभी 2 हजार 952 एक्टिव मरीज हैं।

दिल्ली में शुरू हुआ विरोध

आपको बता दें कि दिल्ली में किसी भी सार्वजनिक जगह पर छठ पूजा का आयोजन न करने का निर्देश दिया गया है। लोगों से अपील की गई है कि सभी अपने घरों में ही छठ पूजा करें। हालांकि छठ पूजा (Chhath Puja) का आयोजन करवाने वाली समितियों ने दिल्ली सरकार के इस कदम का विरोध किया है।

छठ पूजा समितियों की दलील है कि सोशल डिस्टेंसिंग समेत कई नियमों का पालन करते हुए पूजा की जा सकती है तो फिर मनाही क्यों की जा रही है? उनका कहना है कि बड़ी-बड़ी रैलियों के आयोजन, साप्ताहिक बाजार तक लग रहे हैं जिनमें काफी भीड़ होती है, लेकिन पूजा से मनाही क्यों की जा रही है।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*