दी जा रही थी बकरे की बलि, तभी हुआ कुछ ऐसा कि बच्चे की गर्दन पर गिरा हथियार और..

लालपुर, झारखंड। दुर्गा पूजा के दौरान छोटी से लापरवाही से एक मासूम की जान चली गई। किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि बलि देने के दौरान तीन साल के मासूम की ही गर्दन कट जाएगी। उसे अस्पताल ले जाकर बचाने की भी कोशिश की लेकिन मासूम ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। इस हादसे से गांव में हड़कंप मच गया।

झारखंड के घाघरा थाना क्षेत्र के लालपुर गांव का यह पूरा मामला है। दुर्गा पूजा उत्सव के दौरान हुई अनहोनी में मासूम की मौत से गांव में मातम परस गया। बताया जा रहा है कि दुर्गा पूजा के दौरान बलि देने की परंपरा है। विसर्जन से पहले इस परंपरा को निभाया जा रहा था।

ग्रामीणों ने बताया कि हर साल की भांति इस साल भी गांव के मंडप में बकरा बलि देने की परंपरा को निभाई जा रही थी। इसी दौरान दो बकरे की बलि दी जा चुकी थी, तीसरे बकरे की बलि के लिए जब बलुआ से बकरे पर प्रहार किया गया तो बलूवा का बेंत टूट गया और भीड़ में खड़े दीपक उरांव के पुत्र 3 वर्षीय विमल के गला में जा लगा। विमल को घायल अवस्था में ग्रामीण सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र घागरा ले जा रहे थे, रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

हादसे की सूचना पर पहुंची पुलिस की टीम ने गांव जाकर मासूम का शव बरामद किया। वहीं मामले को लेकर ग्रामीणों से पूछताछ की। इस घटना के बाद से मृतक की मां बिरसी देवी और पिता दीपक उरांव सहित पूरे परिवार का रो रोकर बुरा हाल है। वहीं स्थानीय घाघरा थाने की पुलिस मामले की छानबीन में जुटी थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*