Bhupesh Sarkar,

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में छत्तीसगढ़ के साथ केंद्र सरकार कर रही सौतेला व्यवहार: शैलेश

विधानसभा चुनाव में भाजपा की हार का बदला मोदी सरकार छत्तीसगढ़ की जनता से ले रही

रायपुर. गरीब कल्याण योजना (Gareeb Kalyaan Yojana) का फायदा छत्तीसगढ़वासियों को ना मिलने पर कांग्रेस प्रवक्ताओं ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है, कि विधानसभा चुनाव में भाजपा की हार का बदला मोदी सरकार छत्तीसगढ़ की जनता और मजदूरों से ले रही है। भाजपा के रमन सिंह जैसे नेता और सांसद मजदूर विरोधी, गरीब विरोधी, किसान विरोधी और आम जनता विरोधी गतिविधियों में संलिप्त है। छत्तीसगढ़ की जनता कभी उनको माफ नहीं करेगी।

यह भी पढ़े: गंगरेल डेम का कायाकल्प करेगी भूपेश सरकार, 49.42 करोड़ रुपए स्कीकृत

केंद्र सरकार कर रही भेदभाव

कांग्रेस नेता शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा है, कि यह दुख का विषय है कि केंद्र की भाजपा सरकार राज्य राज्य के हिसाब से मजदूरों में भेदभाव कर रही है। लॉकडाउन और लॉकडाउन में कुप्रबंधन के लिये जिम्मेदार मोदी सरकार को मानवता और नैतिकता के नाते भी छत्तीसगढ़ के इन 5 लाख से अधिक प्रवासी मजदूरों के प्रति इन मजदूरों को मदद करनी चाहिए थी।

छत्तीसगढ़ के प्रवासी (Gareeb Kalyaan Yojana) मजदूरों को मदद मोदी सरकार का फर्ज था और है। 1200 करोड़ रुपए से अधिक की मजदूरों की सिफ रोजी की राशि केंद्र की भाजपा सरकार पर मजदूरों का कर्ज मोदी सरकार के इस फैसले ने छत्तीसगढ़ के मजदूरों गरीबों और पूरे राज्य के जख्मों पर नमक छिड़कने का काम किया है।

यह भी पढ़े: ब्रेकिंग: चालू सीजन वनोपज संग्रहण करने में छत्तीसगढ़ देश में अव्वल, सालाना टारगेट पूरा किया मात्र 6 माह में

भाजपा नेताओं ने चुप्पी साधी

कांग्रेस नेता त्रिवेदी ने मजदूर कल्याण योजना (Gareeb Kalyaan Yojana) में छत्तीसगढ़ को जानबूझकर छोड़े जाने के मामले में भाजपा के छत्तीसगढ़ के नेताओं और सांसदों की चुप्पी पर कड़ा ऐतराज जताया है। क्या छत्तीसगढ़ ने राज्य से 9 भाजपा सांसदों को चुन कर इसीलिए भेजा है? कि वे दलीय प्रतिबद्धता के कारण जब राज्य के हितों की बात हो तो चुप्पी साध रखें। अब समय आ गया है कि भाजपा के सांसद राज्य की जनता के सामने स्पष्ट करें कि उनका छत्तीसगढ़ के हकों हितों से कोई सरोकार क्यों नहीं है?

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*