rahat samagri

छत्तीसगढ़: lockdown में सीएम बघेल के निर्देश का पालन, 62 हजार 172 लोगों को मिली राहत सामग्री

रायपुर. कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन (lockdown) के निर्देश देने वाली राज्य सरकार ने अपने प्रदेशवासियों को राहत सामग्री उपलब्ध कराना शुरु कर दिया है। सोमवार को सीएम भूपेश बघेल के निर्देश पर छत्तीसगढ़ के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में 62 हजार 172 जरुरतमंदों को राहत सामग्री शासकीय अधिकारियों और कर्मचारियों ने उपलब्ध कराई गई है। सीएम बघेल ने पिछले दिनों सभी जिलों के कलेक्टरों को सख्ती के साथ राहत सामग्री जरुरतमंदों को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। सीएम द्वारा निर्देश जारी करने पर सभी जिलों के कलेक्टर कर्मचारियों के माध्यम से राहत पैकेट का निर्माण करवाकर उन पैकेटों को जरुरतमंदों को देने में लगे हुए है।

सीएम भूपेश बघेल के निर्देश पर राहत सामग्री के पैकेट बनाते हुए कर्मचारी।
सीएम भूपेश बघेल के निर्देश पर राहत सामग्री के पैकेट बनाते शासकीय कर्मचारी और संगठन के सदस्य।

समाजसेवी संस्थाएं भी जुटी सेवा करने में

लॉकडाउन (lockdown) के समय शासकीय अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ समाजसेवी संस्थाएं भी कदम से कदम मिलाकर चल रही है। सीएम भूपेश बघेल के आह्वान अनेक समाजसेवी संस्थाएं गरीबों और जरूरतमंद परिवारों की मदद के लिए सामने आयी और जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर इस कार्य मे सहयोग दे रही हैं। समाजसेवी संगठनों द्वारा पूरे प्रदेश में 18 हजार 638 व्यक्तियों और 18 हजार 097 परिवारों के लिए भोजन और निशुल्क राशन सामग्री का प्रबंध किया गया है।

इस जिले में इतनों को मिली मदद

सीएम के निर्देश पर लॉकडाउन (lockdown) के दौरान सोमवार को राजधानी रायपुर में 9 हजार व्यक्तियों और 22 हजार परिवारों को भोजन और राशन सामग्री उपलब्ध कराई गई है। रायपुर में 9000 लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था की गई है जबकि 4000 जरूरतमंद परिवारों को निशुल्क राशन सामग्री वितरित की गई है । इसी प्रकार सरगुजा जिले में 11 हजार 550 जरूरतमंद लोगों को राहत सामग्री दी गई है।

बस्तर जिले में 5 हजार 963 जरूरतमंद व्यक्तियों को मदद की जा रही है। राजनांदगांव जिले में 3 हजार 565 लोगों को राशन और भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। दुर्ग जिले में 2 हजार 918, रायगढ़ जिले में 2 हजार 882, कोरबा जिले में 2 हजार 769, धमतरी जिले में 2 हजार 380 लोगों के भोजन और निशुल्क राशन की व्यवस्था की गई है।

गौरेला-पेंड्रा- मरवाही जिले में 2 हजार 306, बलौदा बाजार-भाटापारा जिले में 1 हजार 885, सुकमा जिले में 1 हजार 792, जांजगीर-चांपा जिले में 1 हजार 556, जशपुर जिले में 1 हजार 270, सूरजपुर जिले में 1 हजार 180 लोगों के राहत सामग्री उपलब्ध कराई गई है।

बिलासपुर जिले में 1 हजार 179, बीजापुर जिले में 1 हजार 39, बालोद में 942, कांकेर में 886, महासमुंद में 854, बलरामपुर में 869, मुंगेली जिले में 841, कोंडागांव में 633, दंतेवाड़ा में 628, नारायणपुर में 437, बेमेतरा जिले में 205 और कोरिया जिले में 486 व्यक्तियों और 112 जरूरतमंद परिवारों के निशुल्क राशन और भोजन की व्यवस्था से इन्हें राहत पहुंचाया गया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*