First beaten by Forest Department officials, then embarrassed by having a sit-in meeting

वन विभाग के अधिकारियों कि पहले पिटाई की, फिर उठक बैठक करा के किया शर्मिंदा

रायपुर . अचानकमार के जंगल में पुलिस और वन विभाग Forest Department टीम के साथ बड़ा तमाशा हो गया। दोनों ही टीमों पर बारी-बारी हमले हुए हैं। मामला कुछ ऐसा है कि अचानकमार में शिकायत मिलने के बाद वन विभाग की टीम छापेमारी करने पहुंची थी, लेकिन ये प्लानिंग कमजोर पड़ गई और जैसे ही वन विभाग की टीम जंगल पहुंची, उन पर हमला हो गया। वन विभाग के रेंजर समेत 3 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। उनको हॉस्पिटल में एडमिट कराना पड़ गया। इसके बाद लोरमी थाने में शिकायत के बाद 16 लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग उठी। इसी को लेकर जब पुलिस Forest Department आरोपियों को गिरफ्तार करने गई तो उन पर भी हमला हो गया।

ये भी पढ़े Exclusive : नहीं जाएगी अतिथि व्याख्यता की नौकरी होगा भुगतान

ग्रामिणों ने पुलिस बस पर हमला किया। बता दें कि अचानकमार के जंगल से सालाना करोड़ो रुपए की अवैध तस्करी होती है। यह जोन विशेष वन संपदा के लिए मशहूर है। यही वजह है कि यहां पर शिकारियों का जमावड़ा लगा रहता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए वन में कैमरे लगाए गए हैं, जिसमें शिकारियों के बारे में सूचना मिलती है। इसी वीडियो को देखकर वन विभाग Forest Department टीम ने छापेमारी की।

ये भी पढ़े रायपुर में ​मिला फिर एक कोरोना संक्रमित

छापे में आरोपियों के पास से शिकार करने के सामान मिले। वन विभाग के छापे में तीर धनुष, फंदा जैसे शिकार के समान भी बरामद किया। अभी विभाग के अधिकारियों की ओर से शिकारियों पर कार्रवाई चल ही रही थी कि ग्रामीणों ने वन विभाग की टीम पर हल्ला बोल दिया। टीम को बंधन बनाया और कार्रवाई में जब्त सामान अपने कब्जे में ले लिए। विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों से दंड बैठक भी कराए गए।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*