cgpsc,

विशेषज्ञों की लेटलतीफी से अटका 2019 पीएससी मेंस का इम्तहान

कोर्ट के आदेशानुसार 2 माह में करानी थी परीक्षा

रायपुर। छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग (CGPSC) द्वारा आयोजित 2019 पीएससी मेंस का इम्तहान विशेषज्ञों की लेटलतीफी की वजह से अटका हुआ है।

आयोग ने प्री का इम्तहान लेने के दौरान प्रश्न पत्र में 3 सवाल गलत दे दिए थे। मामलें में अभ्यर्थी हाईकोर्ट चले गए और अक्टूबर 2020 को आयोजित होने वाली मेंस परीक्षा में हाईकोर्ट ने स्टे देकर आगे की प्रक्रिया रोक दी। स्टे देने के साथ कोर्ट ने छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग को निर्देश दिया था, कि दो माह के अंदर गलत प्रश्नों के प्रकरण को सुलझाया जाए और उन नंबरों को किस तरह से परीक्षार्थियों को देना है इसका विकल्प निकाला जाए।

उक्त मामलें में कोर्ट के निर्देश के बावजूद आयोग ने अब तक नोटिफिकेशन जारी नहीं किया है। आयोग (CGPSC) के जिम्मेदारों का कहना है, कि प्रक्रिया जारी है दिसंबर माह के आखिरी तक परीक्षा के संबंध में नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा।

2 विशेषज्ञों ने दिया सुझाव, 1 के जवाब का इंतजार

पीएससी 2019 प्री के 3 प्रश्न गलत होने पर हाईकोर्ट के निर्देश के बाद आयोग ने 3 विशेषज्ञों से मामलें में सुझाव मांगा था। 2 विशेषज्ञों ने अपना सुझाव दे दिया, लेकिन दो माह पूरा होने के बाद भी एक विशेषज्ञ का सुझाव अब तक आयोग के पास नहीं पहुंचा है। आयोग के जिम्मेदारों का कहना है, कि विशेषज्ञ का सुझाव आते ही नोटिफिकेशन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इस संबंध में जल्द सलाह ना देने वाले विशेषज्ञ से भी चर्चा की जाएगी।

1 लाख से ज्यादा परीक्षार्थियों का भविष्य अधर में

पीएससी 2019 (CGPSC) की परीक्षा में लगभग 1 लाख परीक्षार्थियों ने 242 पदों के लिए प्रतिस्पर्धा में शिरकत की थी। अक्टूबर माह में इसका इम्तहान भी होना था। प्रश्न पत्र में आए गलत सवालों का नंबर पीएससी के जिम्मेदारों ने परीक्षार्थियों के अंकों में नहीं जोड़ा, तो उक्त मामलें को लेकर कुछ छात्र हाईकोर्ट चले गए। हाईकोर्ट ने 1 अक्टूबर 2020 को छात्रों के हित में आदेश दे दिया, जिसके बाद से पीएससी 2019 की परीक्षा अटक गई है।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*