Elephant deaths,

ब्रेकिंग: 3 हाथियों की मौत के बाद सख्त हुए वनमंत्री, रिटायर्ड PCCF को दी जांच कराने की जिम्मेदारी

एक माह के अंदर कमेटी सबमिट करेगी जांच रिपोर्ट

रायपुर. छत्तीसगढ़ में तीन अलग-अलग घटनाओं में तीन हाथियों की मौत (Elephant deaths) होने के बाद राज्य सरकार ने मामलें को गंभीरता से लिया है। सूबे के वनमंत्री मोहम्मद अकबर ने मामलें में जांच के निर्देश दिया है। जिम्मेदारों पर मामलें को लेकर सख्त कार्रवाई करने की बात कही है। मामलें की जांच सेवानिवृत्त पीसीसीसीएफ को दिया गया है। पीसीसीसीएफ की अध्यक्षता वाली कमेटी एक माह के अंदर अपनी रिपोर्ट वनमंत्री को देगी।

यह भी पढ़े: आदिवासियों के साथ सकारात्मक सोच के साथ व्यवहार करें: राज्यपाल

पूर्व में भी हो चुकी कार्रवाई

आपको बता दे कि हाथी की माैत (Elephant deaths) के मामले को लेकर पहले भी वन मंत्री श्री अकबर के आदेश पर कड़ी कार्रवाई हो चुकी है। कटघोरा क्षेत्र में एक हथिनी के दलदल में फंसने से माैत के मामले में एक डीफओ को सस्पेंड किया गया था, इसके साथ ही संबंधित पीसीसीएफ को नोटिस जारी किया गया था।हालिया घटना सामने आने के बाद वन विभाग के कई वरिष्ठ अधिकारी घटना स्थल पर माैजूद है। वन विभाग हाथियों से जुडे सभी मामलों को अत्यंत गंभीरता से ले रहा है।

यह भी पढ़े: प्रदेश में रेड, ऑरेंज, ग्रीन जोन की नई लिस्ट जारी, पढ़े आपका जिला किस जोन में…

इन माैतों की होगी जांच

सूरजपुर वन मंडल में प्रतापपुर रेज में 9 जून को एक हाथी की मौत (Elephant deaths) हुई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ह्दयगति से मौत की बात प्रारंभिक रिपोर्ट में सामने आई है। सूरजपुर वन मंडल के ही गणेशपुर बीट में एक हाथी की मौत की प्रारंभिक रिपोर्ट में कहा गया है कि किसी टॉक्सिन पदार्थ खाने से हुई। बलरामपुर वन मंडल राजपुर के गोपालपुर में 6 जून को मृत हाथी के संबंध में प्रारंभिक रिपोर्ट नहीं आई है।

हाथियों की मौत के मामले में वन विभाग गंभीर है, सारे वरिष्ठ अधिकारी मौके पर मौजूद है। बताया गया है कि 3 जून को राजपुर रेंज के अटारी गांव में विचरण कर रहे हाथियों ने कुछ घरों में तोड़फोड़ की थी। वहां रखा मक्का,चावल तथा 8 क्विंटल महुआ खा गए।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*