Durg first district in Chhattisgarh which will have its own special website

Chhattisgarh में दुर्ग पहला जिला जिसकी होगी अपनी खास वेबसाइट

अभी तक स्कूल शिक्षा के आदेश-निर्देश देखने के लिए शिक्षक व आम लोगों को राज्य शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर जाना पड़ता है, लेकिन अप्रेल के आखिरी तक दुर्ग जिला शिक्षा विभाग अपनी विस्तृत वेबसाइट तैयार कर लेगा। दुर्ग प्रदेश का पहला जिला होगा, जिसके पास स्कूल शिक्षा की अपनी अलग से special website वेबसाइट होगी।

इसी वेबसाइट में पालकों को शिक्षा का अधिकार कानून (आरटीई) से जुड़ी जानकारी मिल जाएंगी। ऐसे ही जिले के शिक्षकों के लिए जरूरी आदेश-निर्देश भी इसमें डाल दिए जाएंगे। जिले में स्कूल शिक्षा की स्थिति, मध्यान्ह भोजन, डीईओ स्तर पर ट्रांसर्फर जैसा सबकुछ इसी वेबसाइट पर होगा। शिक्षा विभाग ने वेबसाइट डेवलपमेंट की प्रक्रिया शुरू करा दी है।

‘अमर और अमीर’ के फर्क से स्कूल शिक्षा मंत्री की हो गई किरकिरी

वेबसाइट पर भी मिलेगा स्टडी मटेरियल

विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक नई वेबसाइट पर शिक्षकों का डेटा टीम्स टी ऐप के जरिए मिल जाएगा। वेबसाइट में ही बच्चों का विवरण भी होगा। इसी तरह शासन के निर्देश से जो ऑनलाइन स्टडी प्लेटफार्म special website तैयार कराए जा रहे हैं, उसमें दिए गए ऑडियो-वीडियो स्टडी मटेरियल, कक्षावार लेक्चर जैसा सभी कुछ नई वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा।

टेलीग्राम गु्रप से जुड़े 4500 शिक्षक

छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग ने बच्चों को घर पर ही रहकर पढ़ाई कराने के लिए ई-लर्निंग प्लेटफार्म ‘पढ़ई तुंहर दुआर’ की शुरुआत की है। इसके लिए दुर्ग जिला शिक्षा विभाग ने टेलीग्राम ऐप पर अब तक 4500 शिक्षकों को जोड़ लिया है। टेलीग्राम में प्राइमरी के २ हजार, मिडिल के 1500 और हाई-हाइर कंबाइंड ग्रुप में करीब 900 शिक्षक जुड़ चुके हैं।

RTE के आवेदन करने की तिथि अगले आदेश तक बढ़ाई, लॉटरी पर अभी रोक

विभाग ने शिक्षकों को जल्द से जल्द स्टडी मटेरियल तैयार करने व विषय वार ऑडियो वीडियो कंटेंट बनाने का निर्देश दिए हैं। इसमें हर विषय के लिए अलग-अलग विषयवार ग्रुप बनाए गए हैं, जिसमें एक्सपट्र्स को भी जोड़ा गया है। special website यह एक्सपर्ट शिक्षक के दिए जा रहे कंटेंट को परखकर अप्रूवल देंगे। अप्रूव कंटेंट शिक्षकों को मिलेगा, जिसको वे अपनी कक्षा के बच्चों तक पहुंचाएंगे। जल्द ही स्कूल वार बच्चों के वॉट्सऐप और टेलीग्राम गु्रप भी तैयार हो जाएंगे।

कंटेंट बनाने शिक्षकों को मिला समय

जिला शिक्षा विभाग ने बताया कि कंटेंट तैयार करने के लिए शिक्षकों को प्राइमरी के लिए 15 दिन का समय दिया गया है। मीडिल स्कूल के शिक्षक महीनेभर में कंटेंट मुहैया कराएंगे। इसमें एवी, लेक्चर, टीएलएम आदि होगा। कक्षा 9से 12वीं तक के शिक्षक 30 जून तक पूरा करेंगे। ताकि जैसे ही स्कूल खुले, तब तक कक्षा दूसरी से 12वीं तक इंस्टेक्टिव स्टडी मटेरियल जिले के पास तैयार हो जाएगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*