india pak

क्या इस बार प्रहार LOC पार.. खौफ में आतंकिस्तान.. बढ़ाई हवाई गश्त

हंदवाड़ा भुठभेड़ के बाद एफ 16 और जेएफ 17 किया तैनात

नई दिल्ली. पिछले दिनों जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के हंदवाड़ा में हुए मुठभेड़ (handwara encounter) के बाद भारत की जवाबी कार्रवाई के खौफ से पाकिस्तान खौफजदा है, लिहाजा अपनी हवाई सीमा पर उसने अपने हवाई बेड़े के सबसे धारदार फायटर प्लेन एफ 16 और जेएफ 17 को तैनात कर दिया है। पाकिस्तान इस बार खौफ में है कि कहीं भारत पाक अधिकृत कश्मीर में मौजूद लॉचिंग पैड पर धावा न कर दें।

3 साल बाद फिर चीन के सैनिकों से विवाद, नाकूला बार्डर में जवान भिडे़

आतंकी मुठभेड़ (handwara encounter) के बाद पाकिस्तान अपनी सीमा पर पूरी चौकसी रख रहा है। बता दें कि 2 मई को हुए आतंकी मुठभेड़ में कर्नल आशुतोष शर्मा समेत पांच जवान शहीद हो गए थे। सूत्रों ने बताया है कि पाकिस्तान ने घटना के वक्त से ही अपनी चौकसी बढ़ा दी थी। इस संबंध में भारत को भी जानकारी थी। मुठभेड़ के दौरान जवानों के शहीद होने की वजह से पाकिस्तान को अब यह डर सता रहा है कि भारत जवाबी कार्रवाई न कर दे।

पूर्व विधायक को जिला प्रशासन ने घर में किया कैद, ये है वजह…

इसी खौफ की के चलते पाकिस्तान वायु सेना के एफ-16 और जेएफ 17 लड़ाकू विमान लगातार अपनी हवाई सीमा में गश्त कर रहे हैं। इधर भारतीय सेना भी सर्विलांस सिस्टम से पाकिस्तान की हर गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। भारत सीधे तौर पर इस घटना को पाकिस्तानी हाथ करार दिया था। इसके फौरन बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ट्वीट करते हुए भारत के इन आरोपों को नकारते हुए इसे भारत का प्रोपगेंडा करार दिया।

छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था दुरुस्त करने भूपेश सरकार ने बकायदारों से शुरू की पैसों की मांग

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा था कि मैं पाकिस्तान को निशाना बनाने के लिए भारत द्वारा लगाए जा रहे झूठे आरोपों के बारे में दुनिया को आगाह कर रहा हूं। भारत द्वारा एलओसी के पार घुसपैठ के ताजा आधारहीन आरोप इस खतरनाक एजेंडे की एक कड़ी है।

भारत अब चुप नहीं बैठता

कुछ सालों से बड़े आतंकी घटनाओं के बाद भारत ने जवाबी कार्रवाई की है। उरी हमले और पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को मुहतोड़ जवाब दिया था। जहां पुलवामा हमले के बाद भारत खैबर पख्तूनख्वा के बालाकोट में सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था और जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को तबाह किया था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*