Dharamlal Kaushik commented,

अतिथि शिक्षकों की चिंता नहीं भूपेश सरकार को: कौशिक

अतिथि शिक्षकों को नौकरी से निकालने जाने पर नेता प्रतिपक्ष ने राज्य सरकार को घेरा

रायपुर. अतिथि शिक्षकों को नौकरी से निकाले जाने पर बीजेपी पदाधिकारियों ने चिंता जताई है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक (Dharamlal Kaushik said) ने भूपेश सरकार पर हमला करते हुए कहा, कि राज्य की आर्थिक स्थिती भूपेश सरकार ठीक बता रही है।

यह भी पढ़े: देश में लॉकडाउन बढ़ा 17 मई तक, केंद्र सरकार ने जारी किया आदेश

आर्थिक स्थिती ठीक है, तो अतिथी शिक्षकों को बेरोजगार क्यों किया जा रहा है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि पूरे प्रदेश में अतिथि शिक्षकों को नौकरी से निकाला जा रहा है। राज्य सरकार की इस हरकत से अतिथि शिक्षकें के सामने नौकरी का संकट आ गया है।

2016 में हुई थी अभियान की शुरूआत

धरमलाल कौशिक (Dharamlal Kaushik said) ने कहा कि भाजपा सरकार ने वर्ष 2016 में युवकों को नौकरी देने के लिए इस अभियान की शुरूआत की थी। इस योजना के तहत हजारों युवकों को शिक्षा अभियान से जोड़ा गया था।

यह भी पढ़े: शराब तस्करी पर अपनी करतूतों पर पर्दा डाल रही कांग्रेस- सच्चिदानंद उपासने

जो स्कूलों में जीव विज्ञान, भौतिकी, रसायन, गणित, वाणिज्य सहित अन्य विषयों की पढ़ाई करवाते हैं। लेकिन जब से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार की आई है। वह अतिथि शिक्षकों को लगातार नौकरी निकालने का फैसला ले रही है।

नियमानुसार नहीं निकाल सकते शिक्षकों को

नेता प्रतिपक्ष कौशिक (Dharamlal Kaushik said) ने कहा कि नियम के मुताबिक अतिथि शिक्षकों को नौकरी से तब तक नही निकाला जा सकता है, जब तक उन स्कूलों में नियमित शिक्षक पदभार ग्रहण नही कर लेता है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि ऐसे स्कूल में जहां पद रिक्त है, उसके बाद भी अतिथि शिक्षकों को नौकरी ने निकाला जा रहे है। ये चिंता का विषय है। जिसकी जितनी निंदा की जाये वो कम है।

यह भी पढ़े: लॉकडाउन में तेलंगाना से 1200 मजदूरों को लेकर झारखंड की ओर रवाना हुई पहली ट्रेन

सरकार की कथनी और करनी में अंतर

बीजेपी नेताप्रतिपक्ष ने कहा कि प्रदेश के सरकार के कथनी और करनी काफी अंतर है। उन्होंने मांग की है, कि सभी अतिथि शिक्षकों के भविष्य को ध्यान में रखते हुए उन्हें नौकरी से नही निकाला जाना चाहिए। इस समय परिस्थियों को देखते हुए प्रदेश सरकार को गंभीरता से अतिथि शिक्षकों को नौकरी से निकालने का फैसला तुरंत वापस लेना चाहिये।

देश-प्रदेश की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें…

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*