telangana

तेलंगाना से पैदल छत्तीसगढ़ लौट रही बच्ची की मौत, कोरोना जांच में निगेटिव

रायपुर . कोरोना लॉकडाउन Telangana lockdown की वजह से मजदूरों का पलायन रुकने का नाम नहीं ले रहा। इसी पलायन की वजह से बीजापुर से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। 12 साल की एक बच्ची रोजगार की तलाश में बीजापुर के आदेड गांव से तेलंगाना telangana के पेरूर गांव गई हुई थी। लॉकडाउन की वजह से वहां उनके पास न तो रहने की जगह थी और न भोजन आदि के लिए पैसा।

लिहाजा, एक ही रास्ता शेष बचा। पैदल अपने गांव लौटना। बताया जा रहा है कि 12 लोगों के साथ जंगल के रास्ते तेलंगाना telangana से 3 दिन तक पैदल सफर कर बीजापुर लौटे रहे थे। तभी डिहाइड्रेशन की वजह से बच्ची की मौत हो गई। बच्ची का नाम जमलो मडकामी बताया गया है। वह अपने परिवार के साथ रोजगार के रूप में मिर्ची तोडऩे पेरूर गांव गई हुई थी।

ये भी पढ़े – पिता की अंत्येष्ठी में शामिल नहीं हो पाएंगे सीएम योगी आदित्यनाथ

तीन दिन बाद हुआ पोस्टमार्टम

बच्ची की मौत की खबर मिलते ही प्रशासन ने उसका शव कब्जे में लिया। साथ ही अन्य लोगों को क्वारंटीन में भेजा है। अपनी इकलौती बेटी की मौत की खबर लगते ही पिता आंदोराम मडकम और मां सुकमती मडकम जिला चिकित्सालय बीजापुर पहुंचे। सोमवार को बच्ची के शव का पोस्टमार्टम बीजापुर में हुआ। उसके बाद ही शव परिवार को सौंपा जा सका।

थम नहीं रहा पलायन

इससे पहले भी छत्तीसगढ़ के मजदूर दूसरे प्रदेशों से पैदल ही अपने प्रदेश वापस लौटे हैं। रहने और खाने की दिक्कत को अहम मानते हुए वे सभी वतन वापस लौटें। झारखंड व यूपी से सर्वाधिक मजदूर वापस छत्तीसगढ़ आए हैं। लॉकडाउन में दूसरे प्रदेशों में फंसे इन मजदूरों की स्थिति काफी दयनीय है। दो वक्त के राशन का भी इंतजाम नहीं है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*