Cyber attack,

सावधान! कोरोना की आड में चुराई जा सकती है निजी और वित्तीय जानकारी

साइबर अधिकारियों ने 21 जून के बाद बडा साइबर अटैक होने का दिया संकेत

दिल्ली. केंद्र सरकार ने 21 जून के बाद बडा साइबर अटैक (Cyber attack) होने का अंदेशा जताया है। सरकारी एजेंसी ने कहा, कि कोरोनावायरस महामारी की आड़ लेकर लोगों की निजी और वित्तीय जानकारी पर साइबर ठग हाथ साफ करने की कोशिश करेंगे। इंडियन कंम्प्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम ने ट्वीट में कहा, “शरारती तत्वों” द्वारा 21 जून से ई-मेल के जरिये धोखाखड़ी शुरू की जा सकती है। यह संदेहास्पद मेल सरकार के नाम वाली ई-मेल आईडी (ncov2019@gov.in) से भेजा जा सकता है।

सिस्टम फ्रिज कर निकालेंगे जानकारी

भारत की साइबर सुरक्षा की नोडल एजेंसी सीईआरटी-इन ने बयान में कहा कि ये हमले (Cyber attack) विश्वनसीय इकाइयों के नाम पर किए जा सकते हैं। लोगों को मैसेज खोलने के लिए मजबूर किया जाएगा और जैसे ही लोग मैसेज खोलेंगे साइबर ठग द्वारा सिस्टम फ्रीज करके निजी और वित्तीय जानकारी निकाल लेंगे।

20 लाख लोगों की आईडी हो सकती है हैक

सुरक्षा नोडल अधिकारियों की मानें तो साइबर ठगों (Cyber attack) द्वारा 20 लाख लोगों के की मेल आईडी हैक करने की तैयारी चल रही है। वे ईमेल भेजने की योजना बना रहे हैं, जिनमें विषय की जगह लिखा हो सकता है – ‘दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई और अहमदाबाद में सभी नागरिकों के लिए कोविड-19 की जांच मुफ्त। साइबर सुरक्षा एजेंसी के अधिकारियों ने इस तरह का मेल आने पर उसे नहीं खोलने का आग्रह किया है। इस तरह के ई-मेल की जानकारी विभागीय अधिकारियों ने incident@cert-in.org.in पर देने की बात कही है, ताकि आरोपियों पर कार्रवाई की जा सके।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*