CSVTU backlog and regular semester exam postponed

प्रोफेसर रिमोर्ट एक्सेस से घर बैठे जांच सकेंगे आरवी, आरआरवी की कॉपियां

भिलाई . छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद तकनीकी विश्वविद्यालय के ऐसे छात्र जो सेमेस्टर परीक्षा में मिले अंकों से संतुष्ट नहीं हैं, वे पुनर्मूल्यांकन के लिए 25 अप्रेल तक आवेदन कर सकते हैं। ऐसे छात्रों के लिए सीएसवीटीयू प्रशासन ने आरवी और आरआरवी RV-RRV csvtu के आवेदन करने की तिथि में बढ़ोतरी कर दी है। अब सवाल यह उठता है कि देश में लॉकडाउन की मियाद 3 मई तक के लिए बढ़ा दी गई है, ऐसे में विवि आरवी और आरआरवी की उत्तरपुस्तिका जंचवाएगा कैसे? सीएसवीटीयू ने कहा है कि छात्र पहले निर्धारित तिथि तक अपना आवेदन करें। उनकी कॉपियां जचवाने के लिए इंतजाम किए जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि सीएसवीटीयू ऑनलाइन सिस्टम से आरवी, आरआरवी की उत्तरपुस्तिका जंचवाएगा। यानी विवि अपने प्रोफेसरों को एक ऐसा सिस्टम मुहैया कराएगा, जिससे प्रोफेसर को विवि आने की जरूरत नहीं होगी, वे अपने घर से ही उत्तरपुस्तिका जांच पाएंगे।

अभी कैसे जंचती हैं उत्तरपुस्तिका

आरवी, आरआरवी RV-RRV csvtu की उत्तरपुस्तिका जांचने के लिए विवि के पास विशेष सॉफ्टवेयर है। कॉपी जांचने प्रोफेसर को विवि में ही बुलाया जाता है। यहां विशेष सॉफ्टवेयर की मदद से वह प्रोफेसर उत्तरपुस्तिका को दोबारा जांचकर अंक देता है। इस तरह निर्धारित संख्या में मिलने वाली कॉपियों को जांचकर विवि में ही सब्मिट करना होता है।

किसानों को जीरो प्रतिशत ब्याज पर कर्ज देगी शिवराज सरकार

अब क्या हो सकती है व्यवस्था

लॉकडाउन यदि 3 मई को खुलता है तो भी एक साथ इतनी संख्या में प्रोफेसरों को विवि बुलवाना सही नहीं होगा। ऐसे में विवि योजना बना रहा है कि उक्त प्रोफेसर अपने घरों से ही उत्तरपुस्तिका जांचेंगे। विवि अपना विशेष सॉफ्टवेयर उक्त प्रोफेसर के लैपटॉप या कंप्यूटर में रिमोर्ट एक्सेस के जरिए इंस्टॉल करेगा। RV-RRV csvtu कॉपियां भी प्रोफेसर को विवि रिमोर्ट एक्सेस ही भेजी जाएंगी। जब तक प्रोफेसर कॉपी जांचेगा, तब तक विवि की एजेंसी उक्त प्रोफेसर के साथ लाइव रहेगी। कॉपियां जांचने के बाद ऑनलाइन ही उसे सॉफ्टवेयर में फीड करना होगा। इस पूरी प्रक्रिया में ऑनलाइन सिस्टम काम करेगा।

छात्रों को आरवी, आरआरवी के आवेदन करने के लिए 25 अप्रेल तक का समय दिया गया है। उसके बाद विवि कॉपियां निकालेगा। सभी की सुरक्षा को देखते हुए विवि ऑनलाइन सिस्टम के जरिए उत्तरपुस्तिका जंचवाने की योजना पर काम कर रहा है। इसमें प्रोफेसरों को विवि आने की जरूरत नहीं है। फिलहाल इस बारे में विचार कर रहे हैं। – डॉ. मनोज कुलश्रेष्ठ, समकुलपति, सीएसवीटीयू

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*